1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

डीएमके के साथ रिश्ते पहले की तरह मजबूत: पीएम

प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा है कि एम करुणानिधि की डीएमके पार्टी के साथ कांग्रेस के संबंधों में मजबूती बरकरार है. एक दिन पहले ही करुणानिधि ने प्रधानमंत्री को मिलने का समय नहीं दिया था. सोमवार को मिले दोनों नेता.

default

रविवार रात को कांग्रेस और डीएमके के बीच तनातनी तब खुलकर सामने आ गई जब चेन्नई आ रहे प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से मिलने के लिए तमिलनाडु के मुख्यमंत्री करुणानिधि एयरपोर्ट पर नहीं पहुंचे. करुणानिधि ने मनमोहन सिंह के साथ बैठक भी रद्द कर दी. लेकिन सोमवार आते आते सब ठीक हो गया. सोमवार सुबह राजभवन में दोनों नेताओं की मुलाकात हुई जिसमें कैमरों के सामने रिश्तों में गर्मजोशी दिखाने का प्रयास किया गया.
मनमोहन सिंह ने संकेत दिया कि करुणानिधि के साथ जिन मुद्दों पर बातचीत हुई उनमें राज्य में आई बाढ़ के अलावा अडयार पर्यावरण परियोजना की अनुमति का मुद्दा शामिल है. करीब आधा घंटे चली मुलाकात में करुणानिधि के साथ डीएमके नेता टीआर बालू भी मौजूद रहे. जब मनमोहन सिंह से डीएमके और कांग्रेस में गठबंधन के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा कि दोनों के बीच गठबंधन पहले की तरह ही है और मजबूती बरकरार है.

जब करुणानिधि से पूछा गया कि उन्होंने रविवार को प्रधानमंत्री के साथ मुलाकात क्यों नहीं की तो उन्होंने बताया कि उनका वैरामुत्थु समारोह में जाने का पहले से ही कार्यक्रम था. 2जी स्पेक्ट्रम पर ए राजा के इस्तीफे के बाद से ही कांग्रेस और डीएमके के रिश्तों में असहजता की अटकलें लगाई जा रही हैं. चार महीने बाद तमिलनाडु में विधानसभा चुनाव भी होने हैं और ऐसे में दोनों पार्टियों के बीच रिश्ते और गठबंधन का भविष्य और भी अहम हो गया है.

अडयार पार्क का उदघाटन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को करना था लेकिन आखिरी क्षणों में यह कार्यक्रम रद्द कर दिया गया जिससे तनाव बढ़ा. डीएमके पार्टी से जुड़े सूत्रों का कहना है कि तमिलनाडु कांग्रेस के नेता डीएमके के खिलाफ आलोचनात्मक बयान दे रहे हैं जिससे उनका चुप रहना मुश्किल हो गया है.

वैसे करुणानिधि को यह समझाने में दिक्कत पेश आ रही है कि वह प्रधानमंत्री की आगवानी के लिए एयरपोर्ट क्यों नहीं गए. सरकारी बयान में कहा गया है कि एक समारोह में हिस्सा लेने के दौरान तेज रोशनी से उनकी आंखों पर गलत प्रभाव पड़ा और उनकी आंखों में संक्रमण हो गया. अब देखना है कि कांग्रेस उनकी इस बात पर कितना भरोसा करती है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: आभा एम