1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

डरबन टेस्ट का पहला दिन, भारत 183/6

डरबन टेस्ट के पहले दिन भारत की हालत पतली हुई. स्टेन की तूफानी गेंदबाजी ने भारतीय बल्लेबाजों की मैदान पर टिकने ही नहीं दिया. उन्होंने वीरू, मुरली विजय, राहुल द्रविड़ और लक्ष्मण जैसे अहम विकेट गिराए. क्रीज पर भज्जी, धोनी.

default

मैदान पर जूझ रही टीम इंडिया के लिए राहत आसमान से आई. खराब रोशनी के कारण देर से शुरू हुआ मैच शाम को जल्दी खत्म भी हो गया. पूरे दिन सिर्फ 56 ओवर का खेल हो सका. उसमें भी टीम इंडिया के सभी धुरंधर बल्लेबाज पैवेलियन लौट गए. फिलहाल आखिरी उम्मीद के नाम पर क्रीज पर कप्तान महेंद्र सिंह धोनी और हरभजन सिंह मौजूद हैं.

Kricket Mahendra Singh Dhoni und Graeme Smith

इससे पहले रविवार को टॉस के साथ भारत की मुश्किलें शुरू हुई. धोनी एक बार फिर टॉस हारे और टीम को बल्लेबाजी के लिए मजबूर होना पड़ा. हालांकि बारिश और खराब रोशनी की वजह से मैच देर से शुरू हुआ लेकिन स्टेन ने जल्दी जल्दी विकेट निकालकर भारत की हालत पतली कर दी.

उनका पहला शिकार वीरेंद्र सहवाग बने. स्टेन ने सहवाग को शॉट मारने का लालच दिया. गेंद गुडलेंथ से थोड़ा आगे थी. वीरू का बल्ला भी शॉट मारने के लिए उपयुक्त जगह पर आ चुका था लेकिन टप्पा खाते ही बॉल हैरतंगेज ढंग से स्विंग हुई और बाहर की तरफ निकलते हुए सहवाग का बल्ला चूम गई.

स्लिप पर खड़े जाक कैलिस ने कैच लपकने में कोई गलती नहीं की. कैच सीधा उनकी छाती पर आया और उन्होंने दोनों हाथों से नमस्कार की मुद्रा में टीम को पहली खुशी दिलाई. सहवाग ने 25 रन बनाए.

43 रन पर पहला विकेट खोने के बाद राहुल द्रविड़ अपने निर्धारित बल्लेबाजी क्रम के अनुसार क्रीज पर उतरे. अभी उन्होंने मुरली विजय के साथ मात्र पांच रन ही जोड़े थे कि स्टेन ने टीम इंडिया को फिर एक झटका दिया.

स्टेन ने विजय को पहले चारा फेंका, जिस पर उन्होंने चौका जड़ा. इसके बाद स्टेन ने फिर कुछ वैसी ही गेंद फेंकी और विजय चौके के चक्कर में पड़ गए. लेकिन इस बार गेंद ज्यादा उछली और बाहर की तरफ निकली. 19 रन बना चुके विजय का कैच मार्क बाउचर के दस्तानों में समा गया.

इसके बाद सेंचुरियन के शतकवीर तेंदुलकर का विकेट गिरा. 13 के स्कोर पर उन्हें सोट्सोबे ने आउट किया. लंच के बाद द्रविड़ और लक्ष्मण को स्टेन ने लौटा दिया. द्रविड़ 25 और लक्ष्मण 38 रन बना सके. सुरेश रैना की जगह टीम में आए चेतेश्वर पुजारा सोट्सोबे की गेंद पर गच्चा खाकर विकेटकीपर को कैच थमा गए. इस तरह 156 के स्कोर तक पहुंचते पहुंचते भारत के छह बल्लेबाज आउट हो गए.

सोमवार को मैच के दूसरे दिन धोनी और भज्जी को टीम को आगे बढ़ाना होगा. इन दोनों के लिए सुबह का सत्र अहम होगा. अगर सुबह एक भी विकेट गिर गया तो भारतीय टीम के लिए 200 के पार पहुंचना मुश्किल हो जाएगा और मैच हारने की गुंजाइश भी बनने लगेगी.

रिपोर्ट: एजेंसियां/ओ सिंह

संपादन: एस गौड़

DW.COM