1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

ट्रांसफर के बावजूद ईमानदारी से खेलेंगे रोबर्ट

खेल के मैदान और उसके बाहर हालात बदलते देर नहीं लगती. दो साल पहले जर्मन चैंपियन रहे फुटबॉल क्लब बोरुसिया डॉर्टमुंड को अपने खिलाड़ियों के लिए भी संघर्ष करना पड़ रहा है.

दो साल पहले डॉर्टमुंड ने बायर्न म्यूनिख से मार्को रॉयस के ट्रांसफर की बाजी मार ली थी. लेकिन इस साल उले गोएत्से के बाद अब रोबर्ट लेवांडोव्स्की को बायर्न के हाथों गंवाना पड़ा है. बुंडेसलीगा के मिडटर्म में ट्रांसफर का गेम शुरू होते ही जर्मन चैंपियन ने अपने राष्ट्रीय प्रतिद्वंद्वी को एक और झटका दिया और डॉर्टमुंड से उसके विश्वस्तरीय स्ट्राइकर को छीन लिया. बुंडेसलीगा की टॉप टीम म्यूनिख ने अपने चोटी के खिलाड़ियों में अब अगले सीजन से लेवांडोव्स्की को भी शामिल कर लिया है. यह ट्रांसफर अगले सीजन में होगा यानी आने वाले कुछ महीनों तक लेवांडोव्स्की पीली जर्सी वाली डॉर्टमुंड की टीम के लिए ही खेलते रहेंगे.

क्लब वर्ल्ड कप जीतने के दो हफ्ते बाद और विंटर ट्रेनिंग कैंप के लिए कतर रवाना होने से पहले बायर्न की टीम ने लेवांडोव्स्की को टीम में शामिल करने की घोषणा की. हालांकि पोलैंड की राष्ट्रीय टीम के खिलाड़ी लेवांडोव्स्की के डॉर्टमुंड छोड़ने की अटकलें कई महीनों से चल रही थीं, लेकिन विश्व फुटबॉल संघ फीफा के नियमों के कारण वे नए साल के शुरू होने से पहले कॉन्ट्रैक्ट पर दस्तखत नहीं कर सकते थे. ट्रांसफर की घोषणा करते हुए क्लब के प्रमुख कार्ल हाइंस रुमेनिगे ने कहा, "लेवांडोव्स्की विश्व के सर्वोत्तम स्ट्राइकरों में एक हैं."

बायर्न म्यूनिख पिछले सीजन में जर्मन चैंपियनशिप जीतने के अलावा जर्मन कप और यूरोपीय चैंपियंस लीग जीतने में भी कामयाब रहा. साल के अंत में उसने क्लबों की विश्व चैंपियनशिप भी जीती. वह पिछले सीजन की कामयाबी को इस साल भी दोहराना चाहता है. लेवांडोव्स्की टीम को मजबूत तो करेंगे ही, उसका उत्साह भी बढ़ाएंगे. डॉक्टरी जांच के बाद सप्ताहांत में लेवांडोव्स्की ने पांच साल के कॉन्ट्रैक्ट पर दस्तखत कर दिए. इस कॉन्ट्रैक्ट के खत्म होने तक उनकी उम्र 30 साल होगी और आर्थिक तौर पर वे चिंतामुक्त होंगे.

जर्मन राष्ट्रीय टीम के लिए खेलने वाले मारियो गोएत्से को खरीदने के लिए बायर्न को 3.7 करोड़ यूरो की राशि देनी पड़ी थी, लेकिन लेवांडोव्लस्की के लिए डॉर्टमुंड को कुछ भी नहीं मिला है क्योंकि लेवांडोव्स्की का कॉन्ट्रैक्ट इस साल खत्म हो रहा था. डॉर्टमुंड के जनरल मैनेजर हंस योआखिम वात्स्के अपनी खीझ छिपाते हुए कहा, "यह अचानक नहीं हुआ है, यह सामान्य प्रक्रिया है." लेवांडोव्स्की पिछले ही साल बायर्न जाना चाहते थे, लेकिन डॉर्टमुंड ने दो करोड़ यूरो की फीस मांगी. इस बीच क्लब उनके बदले दूसरे खिलाड़ी की खोज शुरू कर चुका है.

लेवांडोव्स्की ने अब तक जर्मन लीग बुंडोसलीगा में 115 मैच खेले हैं और 65 गोल किए हैं. डॉर्टमुंड के लिए उनकी भरपाई करना आसान नहीं होगा. इसके विपरीत बायर्न के कोच पेप गुआर्डियोला के पास हमले के लिए फ्रांक रिबेरी, आर्येन रॉबेन, मारियो गोएत्से, थोमस मुलर और मारियो मांजुकिच जैसे खिलाड़ियों की कतार होगी.

डॉर्टमुंड ने लोवांडोव्स्की को 45 लाख यूरो में लेख पोजनान से खरीदा था. क्लब के साथ वे दो बार जर्मन चैंपियन बने और अपने गोलों से बायर्न को भी बार बार परेशान किया. 2012 में जर्मन कप के फाइनल में बायर्न के खिलाफ 5-2 की जीत में लोवांडोव्स्की ने अकेले तीन गोल किए थे. अगले सीजन से बायर्न के लिए खेलने का कॉन्ट्रैक्ट साइन करने के बावजूद उन्होंने अपने फैंस को आश्वस्त किया है कि वे पूरी ईमानदारी के साथ डॉर्टमुंड के लिए खेलेंगे.

एमजे/एजेए (डीपीए)

DW.COM

संबंधित सामग्री