1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

ट्रंप बनाम क्लिंटन: कौन होगा अगला राष्ट्रपति?

अमेरिका में पांच राज्यों में हुए चुनावों में रिपब्लिकन डोनाल्ड ट्रंप और डेमोक्रेटिक हिलेरी क्लिंटन सबसे आगे रहे हैं. राष्ट्रपति पद के लिए उनकी उम्मीदवारी पक्की होती जा रही है.

वीडियो देखें 01:43

क्लिंटन की जीत

अमेरिका में हो रहे "प्राइमरी" चुनावों में डोनाल्ड ट्रंप विवादों में घिरे रहने के बावजूद तीन और राज्यों में जीत गए हैं. वहीं हिलेरी क्लिंटन ने भी चार राज्यों में जीत हासिल की है. प्राइमरी चुनावों में इन उम्मीदवारों को एक दूसरे से नहीं, बल्कि अपनी ही पार्टी के अन्य उम्मीदवारों से लड़ना है. रिपब्लिकन पार्टी में ट्रंप और डेमोक्रेटिक पार्टी में क्लिंटन इस वक्त सबसे मजबूत उम्मीदवार बने हुए हैं.

ट्रंप की जीत से सबसे बड़ा धक्का उनके प्रतिद्वंद्वी मार्को रूबियो को लगा है, जिन्हें अपने ही राज्य फ्लोरिडा में ट्रंप के हाथों हार का सामना करना पड़ा है. इस कारण रूबियो ने अपना नाम राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी से वापस ले लिया है. इसकी घोषणा करते हुए उन्होंने कहा, "आज रात के बाद यह साफ हो गया है कि भले ही हम सही हैं लेकिन इस साल हम विजेता नहीं होंगे." ट्रंप की ओर इशारा करते हुए उन्होंने कहा, "मैं अमेरिका के लोगों से यह कहना चाहूंगा कि डर के आगे हार ना मानें, निराशा के आगे हार ना मानें."

ट्रंप ने फ्लोरिडा के अलावा नॉर्थ कैरोलाइना और इलिनॉइस में भी जीत हासिल की. अपने समर्थकों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, "रिपब्लिकन पार्टी में कुछ तो हो रहा है और पूरी दुनिया उसे देख रही है."

वहीं क्लिंटन ने अपने प्रतिद्वंद्वी बर्नी सैंडर्स को पिछाड़ा है. फ्लोरिडा, नॉर्थ कैरोलाइना, ओहायो और इलिनॉइस में क्लिंटन ने जीत हासिल की है. उन्होंने कहा, "हम डेमोक्रेटिक पार्टी की जगह पक्की करने और नवंबर में चुनाव जीतने की ओर बढ़ने लगे हैं." क्लिंटन ने अपने भाषण में सैंडर्स पर कम और ट्रंप पर ज्यादा ध्यान दिया. उन्होंने कहा, "हमारा सेनापति हमारे देश का बचाव करने की हालत में होना चाहिए, उसे शर्मिंदा करने के लिए नहीं."

डेमोक्रेटिक पार्टी में जहां क्लिंटन का रास्ता धीरे धीरे साफ होता दिख रहा है, वहीं ट्रंप के लिए रिपब्लिकन पार्टी के जॉन केसीच और टेड क्रूज अभी भी रास्ते का रोड़ा बने हुए हैं. ओहायो में केसीच ने ट्रंप को बुरी तरह हराया है. उन्होंने सभी 66 सीटों पर जीत हासिल की है. ट्रंप को कुल 1,237 सीटों की जरूरत होगी लेकिन अगर वे अगले प्राइमरी में भी इसी तरह हारे, तो शायद ऐसा ना हो सके. केसीच ने अपनी जीत के बाद सीएनएन से बात करते हुए कहा, "हम जानते हैं कि हमें देश को जोड़ने की जरूरत है, हम अपना समय देश को तोड़ने में बर्बाद नहीं कर सकते."

आईबी, आरपी (रॉयटर्स, एएफपी)

DW.COM

इससे जुड़े ऑडियो, वीडियो

संबंधित सामग्री