1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

ट्रंप के खिलाफ न्याय में बाधा के आरोप की जांच

अमेरिकी मीडिया अधिकारियों मुताबिक विशेष जांचकर्ता रॉबर्ट मुलर न्याय को बाधित करने को लेकर अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप की जांच कर रहे हैं. एफबीआई प्रमुख को बर्खास्त किये जाने के बाद से ट्रंप मुश्किल में हैं.

अमेरिकी दैनिक वॉशिंगटन पोस्ट का कहना है कि स्पेशल काउंसल रॉबर्ट मुलर के अधीन काम कर रहे जांच अधिकारी खुफिया विभाग के प्रमुख अधिकारियों से बात करने की योजना बना रहे हैं. मई में ही अमेरिकी न्याय विभाग ने रॉबर्ट मुलर को 2016 के राष्ट्रपति चुनाव में रूस के हस्तक्षेप की संभावना की जांच का काम सौंपा था. इस मामले की जानकारी रखने वाले पांच अधिकारियों के हवाले से अखबार ने लिखा है कि नेशनल इंटेलिजेंस डायरेक्टर डेनियल कोट्स, एनएसए प्रमुख माइक रोजर्स और एनएसए के पूर्व उप निदेशक रिचर्ड लेजेट जांच अधिकारियों के साथ बात करने को तैयार हो गये हैं.

Robert Mueller (picture-alliance/AP Photo/J.S. Applewhite)

रॉबर्ट मुलर

सूत्रों के अनुसार नेशनल इंटेलिजेंस डायरेक्टर डेनियल कोट्स ने सहयोगियों को बताया कि राष्ट्रपति ट्रंप ने उनसे एफबीआई द्वारा की जा रही जांच में अपने पूर्व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार माइक फ्लिन की ओर कम ध्यान देने के लिए पूर्व एफबीआई प्रमुख जेम्स कोमी से बात करने के लिए कहा है. कोमी ने पिछले हफ्ते ही कांग्रेस की एक समिति को बताया था कि उनका मानना है कि राष्ट्रपति ट्रंप ने उन्हें रूस संबंधित जांच को प्रभावित करने की मंशा से ही पद से हटाया है. ट्रंप के वकीलों ने लीक हुई इन जानकारियों को गलत बताया है लेकिन इस स्टोरी के तथ्यों को भी अब तक नहीं नकारा गया है. ट्रंप के वकील मार्क कासोवित्स ने एक बयान जारी कर इस स्टोरी के पीछे एफबीआई का हाथ बताया है.

रिपब्लिकन नेशनल कमिटी की प्रमुख रॉना मैकडेनियल ने इन आरोपों को बेबुनियाद बताया है और कहा कि इससे कुछ भी बदलने वाला नहीं है. उन्होंने कहा, ''अब तक न्याय बाधित करने का कोई सबूत नहीं मिला है ​और खुफिया विभाग के पूर्व एवं मौजूदा अधिकारियों ने बार—बार कहा है कि जांच को प्रभावित करने की कोई कोशिश नहीं की गई है.''

सीनेट इंटेलिजेंस कमेटी में शामिल डेमोक्रेट मार्क वार्नर ने मीडिया से कहा, ''मैं यह मानता हूं कि हम ने स्पेशल काउंसल मुलर से मुलाकात की है लेकिन मैं इससे जुड़ी जानकारियां नहीं दे रहा हूं.''

ट्रंप के एक बेटे समेत उनके करीबी सहयोगियों ने मुलर की जांच को राजनीतिक करार देते हुए इस पर सवाल उठाए हैं. हालांकि बुधवार को व्हाइट हाउस ने अपने बयान में कहा कि राष्ट्रपति ट्रंप की मुलर को उनके पद से हटाने की कोई मंशा नहीं है. उधर मुलर ने बुधवार को ही सीनेट इंटेलिजेंस कमिटी के सदस्यों से मुलाकात की ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि उनकी जांच में कोई विरोधाभास न रह जाए.

वहीं ट्रंप के दोस्त और कंजरवेटिव वेबसाइट न्यूजमैक्स के सीईओ क्रिस रूडी ने इस हफ्ते ही यह संभावना जताई थी कि ट्रंप मुलर को उनके पद से हटा सकते हैं.

एए/एमजे (रॉयटर्स, डीपीए)

DW.COM

संबंधित सामग्री