1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

टोयोटा ने फिर 15 लाख कारें वापस मंगाईं

दुनिया की सबसे बड़ी वाहन निर्माता कंपनी टोयोटा मोटर्स ने 15 लाख 30 हजार कारें वापस मंगाईं. टोयोटा मोटर्स के मुताबिक उसकी कुछ गाड़ियों में ब्रेक और फ्यूल पंप संबंधी दिक्कतें सामने आई हैं. टोयोटा की प्रतिष्ठा दांव पर.

default

टोयोटा ने अमेरिका और जापान में बेची गईं लाखों कारें वापस मंगाई हैं. इन कारों में लेक्सस और एवलॉन जैसे मॉडल शामिल हैं. कंपनी के मुताबिक 7,50,000 कारें उत्तरी अमेरिका से वापस मंगाई गई हैं. 5,99,000 कारें जापानी मार्केट से वापस मंगाई गई हैं. एशिया से 1,40,000 और ऑस्ट्रेलिया से 50 हजार गाड़ियां वापस ली जा रही हैं.

ये कारें 2004 से 2006 के बीच बेची गईं. इनमें एवलॉन के नॉन हाइब्रिड माडलों के साथ लेक्सस आरएक्स 330एस और लेक्सस जीएस300, आईएस250 और आईएस 350 मॉडल शामिल हैं.

कंपनी के मुताबिक इन कारों में ब्रेक ऑयल लीकेज की शिकायत सामने आ रही है. धीरे धीरे ब्रेक मास्टर सिलेंडर से ब्रेक ऑयल लीक हो रहा है, जिसकी वजह से ब्रेक फेल की वॉर्निंग देने वाला इंडिकेटर चमकने लगता है. ऐसी स्थिति आने पर अगर ड्राइविंग जारी रखी जाए तो ब्रेक ठीक ढंग से काम नहीं करेंगे.

Querschnittmodell eines Toyota Prius

हालांकि टोयोटा का कहना है कि शिकायत हर कार में नहीं है लेकिन वापस मंगाने का फैसला एहतियात के तौर पर लिया जा रहा है. कंपनी के अध्यक्ष कियो टोयोडा ने कहा कि यह कदम गाड़ियों की गुणवत्ता को बढ़ाने के लिए उठाया जा रहा है. फरवरी में ही टोयोटा ने अंतरराष्ट्रीय स्तर पर गुणवत्ता को लेकर एक स्पेशल ग्लोबल कमेटी बनाई थी. कंपनी अध्यक्ष खुद उसकी अगुआई कर रहे हैं.

लेकिन लगातार दूसरे साल गाड़ियों में शिकायत सामने आने पर टोयोडा कहते हैं, ''जब भी हम कारें वापस मंगाते हैं, तब हम क्वॉलिटी बेहतर करने की दिशा में एक कदम आगे बढ़ाते हैं. कारों को वापस बुलाकर हम क्वॉलटी पर फोकस करेंगे.''

पिछले साल भी टोयोटा को ऐसी ही तकनीकी समस्याओं से शर्मिंदा होना पड़ा था. 2009 में उसकी लाखों कारों में एक्सेलरेटर संबंधी गड़बड़ी सामने आई थी. कई कारों का एक्सेलरेटर जाम हो रहा था. उस वक्त भी टोयोटा को दुनिया भर से एक करोड़ 40 लाख कारें वापस मंगानी पड़ी थीं. इस पर इतना हंगामा हुआ कि टोयोटा प्रमुख को अमेरिकी संसद के सामने माफी मांगनी पड़ी.

रिपोर्ट: एजेंसियां/ओ सिंह

संपादन: वी कुमार

DW.COM

WWW-Links