1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

टोयोटा ने एक करोड़ डॉलर हर्जाना दिया

एक्सीलिरेटर में गड़बड़ी की वजह से हुई एक दुर्घटना के लिए टोयोटा मोटर्स पीड़ित परिवार को एक करोड़ डॉलर का मुआवजा देगा. 2009 में हुए इस हादसे में चार लोगों की मौत हुई, जिसके बाद टोयोटा की मुश्किलें शुरू हुईं.

default

घटना अगस्त 2009 की है. अमेरिकी राज्य कैलीफोर्निया में सैलर परिवार टोयोटा लेक्सस लेकर हाइवे पर निकला. कार में मार्क सैलर, उनकी पत्नी बेटी और बहनोई सवार थे. सफर के दौरान सैलर की टोयोटा लेक्सस अचानक रफ्तार पकड़ती गई. कार 190 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार पर पहुंच गई और फिर नियंत्रण से बाहर कर एक अन्य वाहन से टकरा गई. टक्कर इतनी भीषण थी कि टोयोटा लेक्सस में फौरन आग लग गई.

Lexus LS460

हादसे में कार में सवार सभी लोगों की मौत हो गई. सैलर हाईवे पेट्रोल अधिकारी थे. लिहाजा उनकी ड्राइविंग को लेकर किसी तरह का संदेह नहीं जताया गया. मेडिकल जांच से पता चला कि हादसे के वक्त कार में सवार कोई भी व्यक्ति नशे या नींद की अवस्था में भी नहीं था.

जांच के बाद पता चला कि दुर्घटना गाड़ी की तकनीकी गड़बड़ी की वजह से हुई. एक्सीलिरेटर जाम हो गया था जिसकी वजह से गाड़ी तेज रफ्तार पकड़ती चली गई. इसके बाद टोयोटा की कई अन्य नई गाड़ियों की जांच की गई और सभी में एक्सीलिरेटर जाम होने की समस्या सामने आई.

इसके बाद अमेरिकी अदालत में टोयोटा पर लोगों की मौत और उनकी जान को खतरे में डालने का मुकदमा चला. टोयाटा के अध्यक्ष को अमेरिकी संसद के सामने माफी मांगनी पड़ी. कंपनी ने अमेरिका और यूरोप में बेची गई अपनी लाखों गाड़ियां वापस मंगा ली.

अब साल भर बाद टोयोटा ने कहा है कि सैलर परिवार को हुए नुकसान की भरपाई कभी नहीं की जा सकती लेकिन दोनों पक्ष व्यवहारिकता को देखते हुए समझौते के लिए राजी हो गए.

सितंबर में दुनिया की सबसे बड़ी वाहन निर्माता कंपनी टोयोटा ने सैलर परिवार को एक करोड़ रुपये का हर्जाना देकर अदालत के बाहर केस को सुलझाया. दोनों पक्षों ने इसे गोपनीय रखा लेकिन शनिवार को सैलर परिवार को किराए पर लेक्सस गाड़ी देने वाले फर्म के वकील ने इस समझौते की जानकारी दी है.

रिपोर्ट: एजेंसियां/ओ सिंह

संपादन: एस गौड़

DW.COM

WWW-Links