1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

टॉप गियर में भागे फेटल

बहरीन ग्रां प्री जीतने के साथ ही वर्ल्ड चैंपियन सेबास्टियान फेटल ने इस सत्र में भी 10 अंकों की बढ़त हासिल की. हालांकि यह बढ़त उस सपने के जैसी है जिसे पल भर में दूसरे ड्राइवर तोड़ सकते हैं.

2013 की चौथी रेस में फेटल को शुरू से अंत तक कोई खास परेशानी नहीं हुई. शुरुआत में फेरारी के फर्नांडो अलोंसो के हाथों पिछड़ने के बावजूद फेटल ने जल्द ही सबसे आगे की पोजीशन वापस ले ली. इसके बाद तो फेटल रेस का आनंद लेते दिखाई पड़े. बाकी ड्राइवर दूसरे और तीसरे स्थान की होड़ में उलझे रहे. 57 लैप्स (चक्कर) की रेस खत्म होते होते लोटस रेनॉ के किमी रैकोनेन दूसरे स्थान पर आए. ऑस्ट्रेलिया में हुई साल की पहली ग्रां प्री रेस जीतने वाले रैकोनेन को बहरीन में 18 अंक मिले.

Formel Eins Großer Preis von Bahrain 2013

आगे ही रहे फेटल

फॉर्मूला वन की अंक प्रणाली

फॉर्मूला वन में पहले स्थान पर आने वाले को 25, दूसरे नंबर पर आने वाले को 18 और तीसरे स्थान पर रहने वाले ड्राइवर को 15 अंक मिलते है. चौथे से दसवें नंबर के ड्राइवरों को क्रमश: 12, 10, 8, 6, 4, 2 और एक अंक मिलता है.

साल के आखिर में सबसे ज्यादा अंक बटोरने वाले ड्राइवर को वर्ल्ड चैंपियन माना जाता है. चार रेसों के बाद फिलहाल 25 साल के फेटल के 77 अंक हैं. फिनलैंड के रैकोनेन के 67, ब्रिटेन के लुइस हैमिल्टन के 50 और स्पेन के अलोंसो के 47 प्वाइंट हैं.

2013 में फॉर्मूला वन की कुल 19 रेसें होनी हैं. चार गुजर चुकी हैं और 15 बाकी हैं. अब सारी टीमें यूरोप में होने वाली रेसों की तैयारी में हैं. 12 मई को अगली रेस स्पेन में होगी.

बहरीन को भी अगला मौका

रविवार की रेस में बहरीन के लिए भी अच्छी खबर निकली. फॉर्मूला वन के मुखिया बर्नी एकलस्टोन ने विवादों के बावजूद बहरीन का ग्रां प्री कॉन्ट्रैक्ट पांच साल बढ़ाने का संकेत दिया. बहरीन में 2011 में अरब वंसत के दौरान सरकार विरोधी प्रदर्शन हुए. 35 लोग मारे गए. प्रदर्शनों की वजह से 2011 में वहां रेस भी नहीं हो सकी. प्रदर्शनों को बल के बूते दबाने के लिए बहरीन की अंतरराष्ट्रीय समुदाय ने निंदा की. खुद एकलस्टोन भी सरकार की कार्रवाई से खुश नहीं थे.

लेकिन 2011 की कड़वी यादें अब पीछे छूटती दिख रही हैं. रविवार को एकलस्टोन ने कहा, "हमें खुशी हो रही है कि हम पांच साल का नया करार देने जा रहे हैं. मुझे लगता है कि वे जबरदस्त काम कर रहे है और मुझे कोई समस्या नहीं दिखती." बहरीन के पास अब भी 2016 तक का करार है, नया कॉन्ट्रैक्ट इसके बाद से लागू होगा.

ओएसजे/एमजे (रॉयटर्स, एएफपी)

DW.COM

WWW-Links