1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

टेरी वॉल्श हॉकी इंडिया के नए कोच

खराब हालत से जूझ रही भारत की राष्ट्रीय हॉकी टीम को संवारने के लिए ऑस्ट्रेलिया के पूर्व ओलंपिक खिलाड़ी टेरी वॉल्श को लाया गया है. टेरी वॉल्श भारतीय टीम के कोच की जिम्मेदारी संभालेंगे.

टेरी वॉल्श भारतीय टीम के कोच माइकल नॉब्स की जगह लेंगे. नॉब्स को इसी साल जून में पद से हटा दिया गया था. वॉल्श इससे पहले मलेशिया और ऑस्ट्रेलिया की टीमों के कोच रह चुके हैं. ओलंपिक में आठ पदक जीत चुकी भारत की हॉकी टीम पिछले साल लंदन ओलंपिक में सबसे आखिरी स्थान पर रही थी. वॉल्श को अब इसी टीम की हालत दुरूस्त करनी है. वॉल्श ने उनकी नियुक्ति पर जारी हॉकी इंडिया के बयान में कहा, "मैं यह सुनिश्चित करूंगा कि वर्ल्ड हॉकी के शीर्ष स्थान पर पहुंचने की भारत की कोशिश में कोई कसर बाकी न रहे."

59 साल के वॉल्श अभी हाल तक अमेरिका की फील्ड हॉकी एसोसिएशन के तकनीकी निदेशक थे. हॉकी इंडिया ने वॉल्श की नियुक्ति का पूरा ब्यौरा जारी नहीं किया है, लेकिन उम्मीद की जा रही है कि वॉल्श 2016 में रियो दे जनेरो के ओलंपिक खेलों तक इस पद पर बने रहेंगे. वॉल्श अगले साल राष्ट्रीय टीम के एशियाई और कॉमनवेल्थ खेलों के अभियान पर नजर रखेंगे और अगर भारत क्वालिफाई कर जाता है तो वर्ल्ड कप के अभियान पर भी.

हॉकी इंडिया के महासचिव नरिंदर बतरा ने इसी बयान में कहा है, "वॉल्श के पास ना केवल अनुभव है बल्कि दूरदृष्टि भी है जिससे बड़े लोगों की हॉकी टीम को एक अच्छी बुनी पेशेवर टीम में बदला जा सके." बयान में वॉल्श के हवाले से यह भी कहा है, "भारत को कोचिंग देना हॉकी की दुनिया में सबसे बड़ी चुनौती है." वॉल्श टीम में मशहूर डच कोच रोएलेंट ओल्टमैन्स के साथ काम करेंगे जिन्हें जनवरी में हॉकी इंडिया का उच्च प्रदर्शन निदेशक बनाया गया है. पिछले एक दशक में चार विदेशी खिलाड़ियों को भारत का कोच बनाया गया है. इनमें स्पेन के जोस ब्रासा, ऑस्ट्रेलिया के रिक चार्ल्सवर्थ, जर्मनी के गेरहार्ड राश और नॉब्स शामिल हैं. इन चारों को ही तय समय से पहले पद से हटा दिया गया.

एनआर/एमजे (एएफपी)

DW.COM