1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

टीम ओबामा को जेम्स जोन्स का अलविदा

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जेम्स जोन्स ने इस्तीफा दे दिया है. राष्ट्रपति ने जेम्स के इस्तीफे को उनकी विदेश नीति तय करने वाली टीम के लिए बड़ा झटका माना है.

default

ओबामा से बनीं दूरियां

राष्ट्रपति ओबामा ने जेम्स जोन्स के सहायक टॉम डॉनिलोन को फिलहाल जोन्स की जगह लेने के लिए कहा है. डॉनिलोन जेम्स जोन्स की मौजूदगी में भी राष्ट्रपति के ज्यादा करीब थे. डॉनिलोन की उप राष्ट्रपति जो बाइडेन से भी खूब बनती है. पिछले साल जब ओबामा ने अफगानिस्तान में 30,000 और सैनिकों को भेजने का फैसला किया तो इससे डॉनिलोन पूरी तरह सहमत नहीं थे. अफगानिस्तान में तालिबान के खिलाफ बड़े पैमाने पर सेना के अभियानों की दलील पर भी उन्होंने शंका जाहिर की थी.

राष्ट्रपति ने जोन्स की विदाई पर कहा, "अमेरिका के लोग जेम्स जोन्स की सेवाओं के लिए उनके शुक्रगुजार हैं और वे अपने दोस्त को पिछले दो सालों में उनके कामों के लिए उन्हें धन्यवाद देते हैं." हालांकि जानकार अब भी हैरत में हैं कि पूर्व मैरीन जनरल रहे जोन्स अमेरिका के लिए ऐसे कठिन समय में अपना पद क्यों छोड़ रहे हैं. दबी जुबान से ऐसी चर्चा हो रही है कि जोन्स और ओबामा के बीच पिछले कुछ दिनों से नहीं बन रही थी. यह भी कहा जा रहा है कि जोन्स के लगातार विदेश दौरों को घरेलू सुरक्षा नीति को दूसरे देशों में तय करने की निशानी समझा गया.

राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के सदस्य और सुरक्षा मामलों के जानकार डेविड रॉथकॉफ का कहना है, "जेम्स जोन्स को इसलिए चुना गया क्योंकि उनका कद बहुत बड़ा है. ठीक उसी तरह जैसे कुछ विपक्षी पार्टी के

Flash-Galerie Polen Flugzeugabsturz bei Smolensk Opfer Jerzy Szmajdinski

जोन्स पर खूब विदेश दौरे करने का आरोप भी लगता है

अधिकारियों को भी सरकार में रहने दिया गया. इन लोगों को ओबामा की सरकार चलाने की नीति का फायदा मिला. बाद में हुआ यह कि राष्ट्रपति और जेम्स के बीच बात नहीं बनी. राष्ट्रपति के भरोसेमंद लोगों के छोटे दायरे से भी जेम्स जल्दी ही बाहर हो गए. इस दायरे में कई लोग ऐसे हैं जो 2008 के चुनाव अभियान में ओबामा के साथ रहे."

अफगानिस्तान और पाकिस्तान के बारे में पिछले साल बनाई गई ओबामा सरकार की नई नीति जोन्स की ही देन थी. जोन्स ने अमेरिका की विदेश नीति को खूब आगे बढ़ाया. हाल ही में जोन्स रूस के दौरे से वापस लौटे थे.

जोन्स ने अपने इस्तीफे की वजह का जिक्र करते हुए कहा, " मैं सिर्फ इसलिए रिटायर हो रहा हूं क्योंकि राष्ट्रपति हमारे वक्त की कठिन समयस्याओँ को उस तरीके से हल करना चाहते हैं जैसा अमेरिका के इतिहास में कभी नहीं हुआ." जोन्स ने यह भी कहा कि राष्ट्रपति ने दुनिया में अमेरिका की छवि बदल दी है. इतने कम समय में इतना कुछ हो जाने को जोन्स ने विस्मयकारी कहा.

जोन्स का इस्तीफा व्हाइट हाउस के चीफ ऑफ स्टाफ राम एमैनुएल के इस्तीफ के एक हफ्ते बाद ही आया है. एमैनुएल ने शिकागो के मेयर का चुनाव लड़ने के लिए इस्तीफा दिया. इससे पहले ओबामा के बजट चीफ पीटर ओर्सजाग और बड़े आर्थिक विशेषज्ञ क्रिस्टिना रोमर भी उनका साथ छोड़कर जा चुके हैं. माना जा रहा है कि अगले कुछ दिनों में कुछ और लोग ओबामा की टीम से बाहर जाएंगे.

रिपोर्टः एजेंसियां/एन रंजन

संपादनः ए कुमार

DW.COM

WWW-Links

संबंधित सामग्री