1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

जर्मन चुनाव

टीम इंडिया का बना रहेगा सहारा

सहारा ग्रुप ने टेलीकॉम कंपनी भारती एयरटेल से ज्यादा बोली लगाकर टीम इंडिया की स्पॉन्सरशिप को बरकरार रखा है. सहारा 2013 तक भारतीय पुरुष टीम का प्रायोजक बना रहेगा.

default

टीम इंडिया की जर्सी पर सहारा के लोगो को बरकरार रखने के लिए सहारा प्रति अंतरराष्ट्रीय मैच 3.34 करोड़ रुपये देगा. बीसीसीआई के सचिव एन श्रीनिवासन ने एक बयान में कहा, "सहारा इंडिया फाइनेंशियल कॉर्पोरेशन को 1 जुलाई 2010 से 31 दिसंबर 2013 तक भारतीय टीम (सीनियर्स) के टाइटल स्पॉन्सरशिप अधिकार दे दिए गए हैं. इस अवधि में प्रति टेस्ट, वनडे और टी20 अंततरराष्ट्रीय मैच के लिए बीसीसीआई को 3.34 करोड़ रुपये दिए जाएंगे." इस तरह यह साफ हो गया है कि मैच चाहे बीस ओवरों का हो या पांच दिन का, हर मैच के लिए बराबर प्रायोजन राशि मिलेगी.

बीसीसीआई के मुताबिक मौजूदा कॉन्ट्रैक्ट में सहारा टेस्ट मैच के लिए 1.9 करोड़ रुपये, वनडे मैच के लिए 2.08 करोड़ और ट्वेंटी 20 मैच के लिए 1.56 करोड़ रुपये देता है.

बीसीसीआई के साथ सहारा ग्रुप का मूल अनुबंध पिछले साल खत्म हो गया. कंपनी ने चार साल में टीम इंडिया पर 400 करोड़ रुपये खर्च किए. लेकिन कॉन्ट्रैक्ट खत्म होने पर जब बीसीसीआई को कोई नया स्पॉन्सर नहीं मिला तो सहारा ने ही अपना कॉन्ट्रैक्ट और छह महीने के लिए बढ़ा दिया. यह छह महीने का कॉन्ट्रैक्ट अगले महीने खत्म हो रहा था.

टीम इंडिया की स्पॉन्सरशिप हासिल करने की होड़ में सहारा के अलावा भारती एयरटेल भी शामिल थी. हालांकि वीडियोकॉन सहित चार बड़ी इलेक्ट्रॉनिक कंपनियों ने भी स्पॉन्सरशिप की बोली लगाने का फॉर्म खरीदा था.

भारतीय क्रिकेट टीम के स्पॉन्सरशिप के लिए एयरटेल और सहारा दोनों ने 50-50 करोड़ रुपये की रकम जमा की थी जबकि दूसरी कंपनियों ने समयसीमा से पहले ही अपनी दावेदारी वापस ले ली.

सहारा इंडिया भारतीय क्रिकेट टीम को लंबे वक्त से प्रायोजित करता आया है और पिछले दिनों भारतीय हॉकी टीम भी जब संकट में दिख रही थी तो सहारा ग्रुप ने उसकी मदद की थी. हॉकी टीम की प्रायोजक भी सहारा इंडिया ही है.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए कुमार

संपादनः ए जमाल

संबंधित सामग्री