1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

टाटा बना भारत का सबसे अमीर कारोबारी ग्रुप

जहां एक तरफ टाटा ग्रुप के चेयरमैन रतन टाटा के उत्तराधिकारी की खोज हो रही है, वहीं कंपनी भारत का सबसे अमीर ग्रुप बन गई है. उसकी मार्केट वैल्यू 3,71,000 करोड़ रुपये हो गई है. मुकेश अंबानी दूसरे और अनिल चौथे नंबर पर हैं.

default

टाटा ग्रुप के बाद मुकेश अंबानी की रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड को रखा गया है जिसकी कीमत 3,21,750 करोड़ रुपये आंकी गई है. इसके बाद 1,35,300 करोड़ रूपये के साथ अनिल अग्रवाल के स्टरलाइट ग्रुप का नंबर आता है. 1,25,000 करोड़ रुपये के साथ अनिल अंबानी ग्रुप चौथे पायदान पर है, जबकि सुनील मित्तल की अगुवाई वाले भारती ग्रुप को 1,20,500 करोड़ रुपये के साथ पांचवें स्थान पर रखा गया है.

वैसे अगर दोनों अंबानी बधुओं की मार्केट वेल्यू को मिला कर देखा जाए, तो टाटा को दूसरे स्थान पर रखना पड़ेगा. खासकर बरसों तक चली तनातनी के बाद अब मुकेश और अनिल अंबानी के बीच रिश्ते सुधर गए हैं. दोनों की बाजारीय पूंजी 4,47,000 करोड़ रुपये बैठती है जो टाटा से लगभग 77,000 करोड़ रुपये ज्यादा है.

Indien Auto EXPO in Neu Delhi 2010 Flash-Galerie

जैगुआर के साथ टाटा

पिछली तिमाही (अप्रैल-जून 2010) तक टाटा ग्रुप की कीमत 3,26,000 करोड़ रुपये थी और वह मुकेश अंबानी की रिलायंस के बाद दूसरा सबसे अमीर कारोबारी ग्रुप था. पिछली तिमाही तक सिर्फ दो सूचीबद्ध कंपनियां रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड और रिलायंस इंडस्ट्रीज इंफ्रास्ट्रक्चर के पास ही 3,58,000 करोड़ रुपये की पूंजी थी, लेकिन मौजूदा तिमाही में अब तक इसमें 37,000 करोड़ रुपये की गिरावट आ चुकी है.

जून में खत्म होने वाली तिमाही में सात सूचीबद्ध कंपनियों के साथ अनिल अंबानी ग्रुप का बाजार में पूंजी मूल्य 1,42,400 करोड़ रुपये था. वह मुकेश अंबानी और टाटा ग्रुप के बाद देश का तीसरा सबसे अमीर कारोबारी ग्रुप था. लेकिन शेयर बाजार के झोंके ने अनिल को अब चौथे पायदान पर ला खड़ा किया है.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए कुमार

संपादनः ओ सिंह

DW.COM