1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

टाइटर के खिलाफ सबूत नहीं, बंद करो केसः सीबीआई

सीबीआई ने कहा है कि 1984 के सिख विरोधी दंगों के मामले में उसे पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेस नेता जगदीश टाइटलर के खिलाफ कोई सबूत नहीं मिले हैं. सीबीआई ने दिल्ली की एक अदालत से उनके खिलाफ केस खत्म करने को कहा है.

default

सीबीआई को नहीं मिले सबूत

दंगा प्रभावित परिवारों ने टाइटलर के खिलाफ मुकदमा खत्म किए जाने को चुनौती देने वाली एक याचिका दायर कर रखी है. सीबीआई ने कहा है कि सबूतों के आभाव में यह याचिका खारिज कर देनी चाहिए. सीबीआई की तरफ से दी गई लिखित रिपोर्ट का जायजा लेते हुए अडिशनल सेशन जज वीके खन्ना ने दंगा प्रभावित परिवारों से इस बारे में अपना जबाव दाखिल करने को कहा है. मामले की अगली सुनवाई 21 अगस्त को होगी.

दंगों में अपने पति को खोने वाली लखविंदर कौर चाहती हैं कि सीबीआई इस मामले में और जांच करे. उनका कहना है कि टाइटलर को सीबीआई की तरफ से मिली क्लीन चिट को चुनौती देने वाली याचिका खारिज कर देने का अदालत का फैसला सही नहीं है.

एक अडिशनल मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट ने 27 अप्रैल को टाइटलर के खिलाफ मामला बंद करने की सीबीआई की रिपोर्ट को स्वीकार कर लिया. सीबीआई को टाइटलर के खिलाफ कोई सबूत नहीं मिले हैं. मजिस्ट्रेट ने कहा, "ऐसा कुछ भी नहीं मिला है जिसके आधार पर कहा जा सके कि आरोपी टाइटलर 8 नवंबर 1984 को पुलबंगश गुरूद्वारे के पास मौजूद थे या उन्होंने सिखों की हत्या करने वाले दंगाइयों को भड़काया."

उत्तरी दिल्ली के पुलबंगश इलाके में बादल सिंह समेत तीन लोगों की हत्या के मामले में टाइटलर आरोपी हैं. 2007 में मामले को बंद करने की सीबीआई की रिपोर्ट को जब अदालत ने खारिज कर दिया तो केंद्रीय जांच ब्यूरो को फिर से इस मामले की जांच करनी पड़ी. अब अदालत ने सीबीआई की इस दलील को मान लिया है कि टाइटलर तीन मूर्ति पर इंदिरा गांधी के निवास पर थे न कि अपराध वाली जगह पर. सबूत के तौर पर सीबीआई ने कुछ विडियो टेप और कुछ स्वतंत्र चश्मदीदों को पेश किया.

सीबीआई ने ऐसे समय में कांग्रेस नेता टाइटलर के खिलाफ मामला खत्म करने को कहा है जब गुजरात के गृह राज्य मंत्री अमित शाह के मामले में उसके दुरुपयोग के आरोप लग रहे हैं. सीबीआई ने सोहराबुद्दीन फर्जी मुठभेड़ मामले में अमित शाह को आरोपी बनाया है. इस पर बीजेपी का कहना है कि सीबीआई का दुरुपयोग हो रहा है और कांग्रेस अपने विरोधियों पर कार्रवाई के लिए उसका इस्तेमाल कर रही है.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए कुमार

संपादनः ओ सिंह