1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

विज्ञान

ज्यादा पोर्न से सिकुड़ जाता है दिमाग

शोधकर्ताओं ने पता लगाया है कि जो लोग बहुत ज्यादा पोर्न वेबसाइट या वीडियो देखते हैं उनके मस्तिष्क का ग्रे मैटर कम हो जाता है, यानी दिमाग सिकुड़ जाता है.

जेएएमए साइकिएट्री जर्नल में जो शोध छापा गया उसमें ये साफ नहीं हुआ है कि क्या सिर्फ पोर्न के कारण दिमाग सिकुड़ता है या इसमें कोई और वजह भी शामिल हैं. बर्लिन में मानवीय विकास पर काम करने वाले माक्स प्लांक इंस्टीट्यूट के शोधकर्ताओं ने कहा है, "फ्यूचर स्टडीज को पोर्नोग्राफी के प्रभाव की लंबे समय तक जांच करनी चाहिए या फिर किसी नए भागीदार को पोर्न दिखा कर फिर उस पर होने वाले असर का पता लगाना चाहिए."

शोधकर्ता संस्थान ने 21 से 45 साल के 64 पुरुषों को चुना. शुरुआत में इन लोगों को नहीं बताया गया कि पोर्न देखने के दौरान उनके मस्तिष्क पर नजर रखी जाएगी. असर का पता लगाने के लिए इन लोगों के दिमाग का एमआरआई भी किया गया. इन आदमियों को बाद में बताया गया कि पोर्नोग्राफी के बारे में सवाल शोध का हिस्सा होगा. इन्होंने सर्वे फॉर्म भरा, जिसमें उन्होंने बताया कि कितना पोर्न उन्होंने देखा. इन जवाबों के आधार पर पता चला कि औसतन हर हफ्ता वो चार घंटे से ज्यादा पोर्न वेबसाइट या वीडियो देख रहे थे.

इसके बाद उनके दिमाग की स्कैनिंग की गई और इस दौरान उन्हें पोर्न वेबसाइट की तस्वीरें और कसरत करते हुए लोगों की तस्वीरें भी दिखाई गईं. शोध के मुताबिक, "हमारे नतीजों में संकेत मिला कि स्ट्राएटम के दाहिने कैडुएट में ग्रे मैटर पोर्नोग्राफी के ज्यादा इस्तेमाल के साथ कम हो जाता है." इतना ही नहीं जब कामुक विषय वाले वीडियो दिखाए जा रहे थे तो एमआरआई में पाया गया कि दिमाग के एक हिस्से से इंसान को प्रेरित करने वाली प्रक्रिया खत्म हो जाती है.
लेकिन क्या छोटे स्ट्राएटम वाले पुरुष ज्यादा पोर्न देखना चाहते थे या कामुक वीडियो के कारण दिमाग सिकुड़ा. क्या ये कारण था या फिर नतीजा. इन सब सवालों का जवाब अभी ढूंढा जाना है. शोध के लेखकों ने एक बात निश्चित तौर पर कही है, "जिनके स्ट्राएटम का आकार कम होता है उन्हें आनंद का अनुभव करने के लिए बाहरी उत्तेजना की जरूरत होती है और इसलिए शायद पोर्न देखना वे पसंद करते हैं. इसके कारण वह ज्यादा पोर्न देखने लगते हैं."

एएम/ओएसजे (एएफपी)

DW.COM

संबंधित सामग्री