1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

जैकब जुमा ने सात मंत्रियों की छुट्टी की

दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति जैकब जुमा ने अपने मंत्रिमंडल के सात मंत्रियों को निकाल दिया है. उन्होंने कहा कि ये मंत्री काम नहीं कर रहे थे. जुमा अपने प्रशासन को मजबूत करने की मुहिम में जुटे हैं.

default

जैकब जुमा

प्रिटोरिया में जुमा ने कहा, "हमारी सरकार का मिशन है दक्षिण अफ्रीकी लोगों के जीवन की गुणवत्ता में सुधार लाना. खासतौर पर गरीब, कामगार लोगों की. हम हर काम इसी भावना से कर रहे हैं."

हटाए गए मंत्रियों में विवादों में घिरे रहे संचार मंत्री सिपहिवे नयांडा भी शामिल हैं. नयांडा सत्ताधारी अफ्रीकी नैशनल कांग्रेस (एएनसी) में वरिष्ठ पद पर काम कर रहे हैं. इससे पहले वह दक्षिण अफ्रीकी नैशनल डिफेंस फोर्स के प्रमुख भी रह चुके हैं.

मंत्रियों को हटाने के एलान के साथ जुमा ने कहा, "हमारे सामने अब भी बेरोजगारी, गरीबी और असमानता जैसी गंभीर समस्याएं मौजूद हैं. लोगों का जीवन बेहतर बनाने के लिए सरकार को और ज्यादा तेजी से काम करना होगा."

उन्होंने कहा कि देश के पास संसाधन हैं, अनुभवी और कुशल लोग हैं जो लोगों तक सुविधाएं पहुंचाने का काम कर सकते हैं और यह काम काबिल मंत्रियों और उप मंत्रियों के नेतृत्व में ही हो सकता है.

मई 2009 में राष्ट्रपति बनने के बाद से यह जुमा के मंत्रिमंडल में सबसे बड़ा फेरबदल है. सरकार के वामपंथी सहयोगी लेबर फेडरेशन और साउथ अफ्रीकन कम्यूनिस्ट पार्टी उन पर ज्यादा रोजगार पैदा करने और दक्षिण अफ्रीकी अर्थव्यवस्था की हालत को सुधारने के लिए दबाव बना रहे हैं. जिसके जवाब में पिछले हफ्ते सरकार ने कहा है कि एक दशक में 50 लाख नौकरियां पैदा की जाएंगी.

लेकिन जिस पैमाने पर जुमा ने सरकार में फेरबदल किया है उसे जानकार लोग इसी दबाव का नतीजा मान रहे हैं. एग्जिक्यूटिव रिसर्च एसोसिएट्स नामक संस्था में विश्लेषक नेल मराएस कहते हैं कि जुमा अपने वामपंथी सहयोगियों को कुछ छूट देने के लिए ऐसा कर रहे हैं.

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः एन रंजन

DW.COM

WWW-Links