1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

जूलिया गिलार्ड ऑस्ट्रेलिया की पहली महिला प्रधानमंत्री

ऑस्ट्रेलिया की पहली महिला प्रधानमंत्री बन गई हैं जूलिया गिलार्ड. केविन रड ने अचानक पद छोड़ दिया, जिसके बाद गिलार्ड को पीएम बनाया गया है. 48 साल की गिलार्ड ऑस्ट्रेलिया के कई मंत्रालयों में अच्छा काम दिखा चुकी हैं.

default

गिलार्ड बनीं प्रधानमंत्री

क्लर्क और सिपाही की बेटी जूलिया गिलार्ड का कहना है, "मैं ऐसे घर में पली बढ़ी हूं, जहां मेरे मां बाप बहुत मेहनत से काम करते थे. मैं ऐसी सरकार में विश्वास करती हूं जो मेहनत से काम करने वालों को अच्छा पुरस्कार दे. और उन लोगों को नहीं, जो सिर्फ शिकायत में विश्वास रखते हैं."

प्रधानमंत्री बनने के बाद गिलार्ड ने कहा, "मैं ऐसी सरकार में यकीन रखती हूं जो कि दिन रात काम करने वालों को, फैक्ट्रियों में काम करने वालों को, हमारे खानों में काम करने वालों को, हमारी मिलों में काम करने वालों को, हमारे स्कूलों की क्लासों में काम करने वालों को और हमारे अस्पतालों में काम करने वालों को उचित सम्मान दे."

Flash-Galerie Australien Premierministerin Julia Gillard

जूलिया का नाता ब्रिटेन से है और वह मूल रूप से वेल्स की हैं. 1960 में चार साल की उम्र में वह ऑस्ट्रेलिया पहुंचीं. उनका परिवार कोई बहुत समृद्ध नहीं था और उनके पिता पूरी पढ़ाई भी नहीं कर पाए. गिलार्ड को ऑस्ट्रेलिया में पहले एडिलेड के एक प्रवासी होस्टल में रहना पड़ा. बाद में उनके पिता ने ऑस्ट्रेलिया में एक घर खरीद लिया.

गिलार्ड ने कानून की पढ़ाई की और यूनिवर्सिटी में पढ़ते हुए ही वह राजनीति के करीब आ गईं. इसके बाद उन्होंने राजनीतिक सलाहकार का काम शुरू कर दिया.

गिलार्ड को ऑस्ट्रेलिया में बड़े सम्मान के साथ देखा जाता है. वह शिक्षा और रोजगार जैसे अहम मंत्रालयों में बढ़िया काम दिखा चुकी हैं. गिलार्ड के प्रधानमंत्री बनते ही ऑस्ट्रेलिया की खनन कंपनियों के शेयरों में तेजी देखी गई है. शेयर बाजार ऊपर गया है.

इससे पहले, ऑस्ट्रेलिया में अपनी ही सत्ताधारी लेबर पार्टी के निशाने पर आने के बाद केविन रड ने प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया. 2007 में हुए चुनाव में विशाल जीत दर्ज करने वाले रड ने गुरुवार को इस्तीफा दिया. ऑस्ट्रेलिया के 26वें प्रधानमंत्री के तौर पर रड करीब ढाई साल तक प्रधानमंत्री के पद पर रहे. खनन संबंधी टैक्स, जलवायु परिवर्तन नीति को लेकर लेबर पार्टी की कड़ी आलोचना हो रही थी.

Australien / Julia Gillard / Wayne Swan

पिछले महीने ही रड ने खनन कंपनियों पर 40 फीसदी टैक्स लगाने की योजना का एलान किया. इसके विरोध में सभी खनन कंपनियां उतर आई और सदन में भी यह प्रस्ताव गिर गया. इसके बाद कई सर्वेक्षणों में पार्टी और रड की लोकप्रियता को लगातार गिरते हुए दिखाया गया.

कहा जाने लगा था कि अगर रड पद पर बने रहे तो आगामी चुनावों में विपक्षी कंजर्वेटिव पार्टी की जीत होगी. तमाम कारणों की वजह से रड पर उनकी अपनी ही पार्टी ने इस्तीफा देने का दबाव डाला.

बहरहाल अब 48 साल की जूलिया गिलार्ड देश की बागडोर संभालेंगी. गिलार्ड को लेबर पार्टी ने 2007 में ही उप प्रधानमंत्री घोषित कर दिया था. अब रड के इस्तीफे के बाद गिलार्ड को प्रधानमंत्री बना दिया गया है. लेबर पार्टी से सर्वसम्मति से उनके नाम पर मुहर लगाई. पार्टी के प्रवक्ता ने कहा, ''बिना किसी विरोध के संघीय लेबर पार्टी जूलिया गिलार्ड को अपना नेता चुन लिया है.''

वैसे अब नजरें इस बात पर हैं कि कनाडा में शुरू होने जा रहे जी-20 देशों की बैठक में रड जाते हैं या गिलार्ड. आधिकारिक तौर पर जी-20 सम्मेलन में रड को जाना है. वहां ऑस्ट्रेलियाई पीएम को अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा से मिलना है, लेकिन अब गिलार्ड के प्रधानमंत्री बनने के बाद इस मसले पर कुछ असमंजस सा हो गया है.

रिपोर्टः एजेंसियां/ओ सिंह

संपादनः एस गौड़

संबंधित सामग्री