जिन अंग्रेजी शब्दों को नहीं जानते अंग्रेज | दुनिया | DW | 04.01.2014
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

जिन अंग्रेजी शब्दों को नहीं जानते अंग्रेज

बहुत से जर्मन अंग्रेजी के कई शब्द अंग्रेजों और अमेरिकियों से भी ज्यादा जानते हैं, जर्मन भाषा में अंग्रेजी के ऐसे कई शब्द हैं जो खुद अंग्रेजी भाषा में इस्तेमाल नहीं होते. इसकी वजह से अक्सर मुश्किल खड़ी हो जाती है.

अमेरिका की सैर करने गई जर्मन शहर ओल्डेनबुर्ग की सैलानी की समझ में ही नहीं आ रहा था कि हो क्या रहा है. वह बेसबॉल का कैप खरीदना चाहती थी और मैनहटन में दुकानदार से बार बार कह रही थी कि उन्हें 'बेसकैप' चाहिए. और दुकानदार भौचक्का होकर सवालिया आंखों से उनसे पूछ रहा था कि क्या चाहिए. तो क्या अमेरिकी दुकानदार अंग्रेजी नहीं बोलता? बोलता था, लेकिन जर्मन सैलानी अंग्रेजी नहीं बोल रही थी, खासकर वह अहम शब्द नहीं जिसकी उन्हें जरूरत थी.

जर्मन के अंग्रेजी शब्द

बेसकैप सुनने में शुद्ध अंग्रेजी है, लेकिन यह अंग्रेजी का शब्द नहीं है. यह जर्मन आविष्कार है और उन बहुत सारे तथाकथित अंग्रेजी शब्दों में से एक है जिसका आविष्कार जर्मनी में हुआ है. ऐसे शब्द जिन्हें सिर्फ जर्मन लोग ही जानते हैं, कोई अंग्रेज नहीं जानता. इसलिए जब जर्मन और अंग्रेज मिलते हैं तो इन शब्दों के इस्तेमाल से उलझन की स्थिति पैदा हो जाती है.

भाषा के सही इस्तेमाल का समर्थन करने वाले इन शब्दों से नाराज होते हैं जो छद्म अंग्रेजी शब्दों की कोटि में आता है. पर इसमें अंग्रेजों या अमेरिकियों का कोई दोष नहीं है. उन्हें तो पता भी नहीं है कि जर्मन लोग किन शब्दों का इस्तेमाल करते हैं जिन्हें वे अंग्रेजी का शब्द समझते हैं. ओल्डटाइमर, हैप्पी एंड, बीमर या बेसकैप जैसे शब्द या तो अंग्रेजी के हैं ही नहीं या उनका मतलब कुछ और है. 'बीमर' शब्द जर्मनी के बीएमडब्ल्यू का अपभ्रंश है. अमेरिका में प्रोजेक्टर को 'बीमर' नहीं प्रोजेक्टर ही कहा जाता है. और 'बेसकैप' एक पट्टी होती है जो 'डू इट योरसेल्फ' दुकानों में मिलती है.

क्या है 'हैंडी' से 'सिमसन'?

जर्मनी में गढ़े गए अंग्रेजी शब्दों में सबसे कामयाब है 'हैंडी'. सर्वेक्षणों से पता चला है कि मोबाइल फोन के लिए इस शब्द का इस्तेमाल जर्मनी में सबसे ज्यादा लोग करते हैं. इसमें कोई आश्चर्य नहीं क्योंकि यह शब्द छोटा है और हाथ में बैठ जाने वाले फोन का भाव भी देता है. लेकिन है यह पूरी तरह गलत.

यदि यह जर्मन शब्द होता तो इसे अलग तरह से लिखा जाता, लेकिन इसे लिखते हैं अंग्रेजी के 'हैंड' में वाई लगाकर. इसी तरह 'एसएमएस' करने के लिए 'सिमसन' का इस्तेमाल किया जाता है.

जर्मन भाषा संघ के अध्यक्ष वाल्टर क्रैमर शिकायत करते हुए कहते हैं, "बहुत से जर्मन दुनिया को अभिव्यक्त करने के लिए अपनी भाषा का नहीं, बल्कि औपनिवेशिक भाषा का इस्तेमाल करने की जरूरत समझते हैं." लंदन टाइम्स ने इसे एक बार भाषाई दब्बूपन की संज्ञा दी थी. क्रैमर कहते हैं कि वे पराए शब्दों के इस्तेमाल के खिलाफ नहीं हैं, लेकिन उन्हें मुनासिब होना चाहिए. पर जर्मन लोग जर्मन अंग्रेजी वर्णसंकर शब्दों का इस्तेमाल खुद को कॉस्मोपोलिटन साबित करने के लिए करते हैं.

'पब्लिक व्यूइंग' का भ्रम

जर्मनी में तथाकथित अंग्रेजी शब्दों से अक्सर भ्रम की स्थिति पैदा हो जाती है. जर्मनी में 2006 में फुटबॉल विश्व कप के आयोजन के बाद से मैचों की 'पब्लिक व्यूइंग' हो रही है, जबकि अमेरिका में इसका इस्तेमाल खुले कॉफीन में शव को रखने को कहते हैं. एक दुकानदार एक विदेशी सैलानी को 'रकसैक' बेचने की कोशिश में उसे 'बॉडी बैग' बता रहा था, जबकि अमेरिका में 'बॉडी बैग' का इस्तेमाल शव को लाए जाने वाले बैग के लिए किया जाता है.

भाषाविद् योआखिम ग्रेगा कहते हैं कि कुछ अंग्रेजी अपभ्रंश तो इस तरह से मिल गए हैं कि लोगों को लगता ही नहीं कि वे पराए शब्द हैं. मसलन 'शो मास्टर', 'होम ट्रेनर' या 'जैप' करने का जर्मन शब्द जैपेन. ऐसा नहीं है कि जर्मन ही अंग्रेजी जैसे लगने वाले शब्दों का इस्तेमाल करते हैं. फ्रेंच और इटैलियन 'जॉगिंग' के लिए 'फूटिंग' शब्द का इस्तेमाल करते हैं. ग्रेगा इसका दोष ऐड एजेंसियों को देते हैं जो इस तरह के शब्द गढ़ते हैं क्योंकि उनकी राय में ये शब्द कूल हैं.

एमजे/आईबी (डीपीए)

DW.COM

संबंधित सामग्री