1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

जिंदल का आरोप यूरोप में नो गो जोन

यूरोप में स्थानीय संस्कृति और आप्रवासन का मुद्दा गर्मा रहा है. इस बहस में शामिल होते हुए भारतीय मूल के अमेरिकी राजनीतिज्ञ बॉबी जिंदल ने कहा है कि कुछ देश मुसलमानों को स्वायत्त मोहल्ला बनाने की इजाजत दे रहे हैं.

जर्मनी में विदेशी विरोधी प्रदर्शन और फ्रांस में व्यंग्य पत्रिका पर हमलों के बाद यूरोप में स्थानीय संस्कृति और आप्रवासन का मुद्दा गर्मा रहा है. वहीं अमेरिकी प्रांत लुइजियाना के गवर्नर बॉबी जिंदल ने लंदन में एक भाषण में आरोप लगाया कि इन स्वायत्त मोहल्लों में मुसलमान इस्लामी कानून के सख्त रूप पर अमल कर रहे हैं. 2016 में होने वाले अगले राष्ट्रपति चुनावों में उम्मीदवारी पर विचार कर रहे रिपब्लिकन नेता ने बाद में पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए अपने बयान का बचाव किया और उसे दोहराया. एक ब्रिटिश थिंक टैंक के लिए तैयार अपने भाषण में बॉबी जिंदल ने कहा कि कुछ आप्रवासी "पश्चिमी देशों को उपनिवेश बनाना चाहते हैं क्योंकि अपना इलाका बनाना और नो गो जोन को मान्यता देने की मांग करना यही है.

नो गो जोन या वर्जित इलाके का दावा वैसा ही है जैसा कुछ दिन पहले अमेरिकी चैनल फॉक्स न्यूज पर एक मेहमान ने किया था. अमेरिकी लेखक स्टीवन इमर्सन ने फॉक्स न्यूज को बताया कि बर्मिंघम जैसे शहर हैं जो पूरी तरह मुस्लिम हैं, जहां गैर मुस्लिम अंदर जाते ही नहीं. इस पर प्रतिक्रिया देते हुए ब्रिटिश प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ने इमर्सन को "कंप्लीट इडियट" कहा. इमर्सन ने बाद में अपनी टिप्पणी के लिए माफी मांगी और कहा कि वे पूरी तरह गलत थे. फॉक्स न्यूज ने भी इन टिप्पणियों का प्रसारण करने के लिए माफी मांगी.

जिंदल ने भी अपने भाषण में उसी तरह की दलीलों का इस्तेमाल करते हुए लंदन और दूसरे यूरोपीय शहरों में नो गो जोन बनने के खिलाफ चेतावनी दी. बाद में सीएनएन के साथ इंटरव्यू में जिंदल ने कहा, "मुझे पता है कि सच बोलकर हम लोगों को नाराज करेंगे. बड़ा मुद्दा समाज में नहीं घुलने मिलने का है, यह तथ्य है कि ऐसे लोग हैं जो हमारे देश में आना चाहते हैं, लेकिन हमारे मूल्यों को, हमारी भाषा को स्वीकार नहीं करना चाहते और कुछ मामलों में अपना इलाका बनाना चाहते हैं और अपने मूल्यों को बनाए रखना चाहते हैं." जिंदल ने कहा, "मैं समझता हूं कि यह खतरनाक है."

अपनी दलील के बचाव में जिंदल ने ब्रिटेन के हत्या, नाबालिगों के साथ यौन दुर्व्यवहार और लड़कियों के खतने का उदाहरण दिया जिनकी कुछ इलाकों में रिपोर्टिंग भी नहीं होती. जिंदल ने कहा, "बड़ा मुद्दा यह है कि चरमपंथी इस्लाम जिंदगी जीने के हमारे तरीके के लिए खतरा है."

इस बीच पेरिस के नगर प्रशासन ने नो गो जोन के मुद्दे पर फॉक्स न्यूज पर मुकदमा करने की बात कही है. फॉक्स ने कहा था कि पेरिस में ऐसे इलाके हैं जहां पुलिस और गैर मुस्लिम जाने से बचते हैं. पेरिस पालिका के एक अधिकारी ने कहा है कि माफी के बावजूद मुकदमा दायर किया जाएगा.

एमजे/आईबी (एपी, एएफपी)

संबंधित सामग्री