1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

विज्ञान

जापान में पकड़ी गई दैत्याकार टूना मछली

जापान में 1986 के बाद पहली बार अब एक बड़ी भारी टूना मछली पकड़ी गई. 445 किलो की ये मछली 36 हज़ार 700 डॉलर यानी 17 लाख रुपये से ज़्यादा में बिकी.

default

त्सुकिजी मार्केट में टूना फिश की बिक्री

व्हेल खाने वाले जापान में शुक्रवार को मछली खाने और खरीदने वालों के लिए एक नया आकर्षण बना जब टोकियो के फिश मार्केट में दैत्याकार टूना मछली बेचने के लिए रखी गई. टोकियो का त्सुकिजी फिश मार्केट दुनिया का सबसे बड़ा सीफूड मार्केट है.

त्सुकिजी फिश मार्केट चलाने वाले टोकियो मेट्रोपोलिटन प्रशासन के एक अधिकारी ने बताया, "जो इस फिश मार्केट में काम करते हैं उनमें से कई लोगों ने भी इतनी बड़ी टूना मछली नहीं देखी. वैसे भी 400 किलो से भारी टूना मछली कम ही देखी जाती है."

ये टूना मछली लगभग चार हज़ार रुपये प्रति किलो के हिसाब से बेची गई. चूंकि बेचते वक्त इसे साफ कर लिया गया था तो बहुत संभव है कि इसका वजन 445 किलोग्राम से और ज़्यादा रहा होगा.

Flash-Galerie Artenschutz Roter Tunfisch

सुशी में पसंद की जाती है टूना फिश

जिस टूना मछली को जापान में बेचा गया वह टूना परिवार की ब्लूफिन टूना मछली है. इसके पहले जापान में सबसे बड़ी टूना मछली अप्रैल 1986 में बेची गई थी जिसका वजन 496 किलो था. लेकिन दुनिया की सबसे बड़ी टूना मछली 1995 में कनाडा में बेची गई, इसका वजन 497 किलो था.

अटलांटिक में पाई जाने वाली इस ब्लूफिन टूना मछली का बहुत ज़्यादा शिकार होने के कारण इसके गायब होने का खतरा पैदा हो गया था. कई पश्चिमी देशों ने इसके शिकार पर प्रतिबंध लगा दिया था. दुनिया भर की एक तिहाई टूना मछली जापान खा जाता है. इसे सुशी में इस्तमाल किया जाता है और चूंकि ये इतनी कम मिलती है तो इसे ब्लैक डायमंड कहा जाता है.

रिपोर्टः एएफपी/आभा एम

संपादनः महेश झा

संबंधित सामग्री