1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

जापान के समर्थन का जर्मनी में स्वागत

जर्मनी के विदेश मंत्री गीडो वेस्टरवेले ने अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा की तारीफ की है. वह खुश हैं कि बराक ओबामा ने जापान के लिए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की स्थायी सीट का समर्थन किया है.

default

जर्मनी खुद भी संयुक्त राष्ट्र की सबसे महत्वपूर्ण मानी जाने वाली संस्था सुरक्षा परिषद में स्थायी सीट के लिए कोशिश कर रहा है. वेस्टरवेले ने भारत के लिए स्थायी सीट के अमेरिकी समर्थन की भी तारीफ की थी.

एक लिखित बयान जारी कर वेस्टरवेले ने कहा, "मैं अमेरिकी राष्ट्रपति के जापान को स्थायी सीट के समर्थन का स्वागत करता हूं. यह सुरक्षा परिषद में स्थायी सीट हासिल करने की हमारी कोशिशों को भी वाजिब ठहराता है और यही 21वीं सदी की सच्चाई है. एशिया और दक्षिण अमेरिका को सुरक्षा परिषद में सही प्रतिनिधित्व हासिल नहीं है. यही हाल अफ्रीका का भी है."

Obama in Indien

संयुक्त राष्ट्र की सुरक्षा परिषद में इस वक्त पांच स्थायी सदस्य हैं. अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस, रूस और चीन के पास ही वीटो करने की शक्ति है. ज्यादातर देश इस व्यवस्था में बदलाव चाहते हैं. हालांकि जानकार राजनयिकों का कहना है कि बदलाव होने में कई साल का वक्त लग सकता है.

इस वक्त स्थायी सीट की मांग करने वाले प्रमुख देशों में जर्मनी अपने बाकी तीन साथियों भारत, जापान और ब्राजील के साथ खड़ा है. हाल ही की अपनी भारत यात्रा के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने भारत के स्थायी सीट के दावे का भी समर्थन किया था. जर्मन विदेश मंत्री ने इस समर्थन का स्वागत किया था.

रविवार को उन्होंने कहा, "मैं उम्मीद करता हूं कि अमेरिकी राष्ट्रपति ओबामा की इन ताजा टिप्पणियों से सुरक्षा परिषद में सुधार की कोशिशों में तेजी आएगी. जर्मनी भी इसमें ज्यादा जिम्मेदारी मिलने की उम्मीद कर रहा है."

रिपोर्टः एजेंसियां/वी कुमार

संपादनः एन रंजन

DW.COM