1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

जापान के ऊपर से गुजरी उत्तर कोरियाई मिसाइल

उत्तर कोरिया ने मंगलवार की सुबह एक बार फिर बैलिस्टिक मिसाइल दागी है जो प्रशांत महासागर में गिरने से पहले जापान के होक्काइदो द्वीप के ऊपर से गुजरी.

दक्षिण कोरिया के ज्वाइंट चीफ ऑफ स्टाफ का कहना है कि मिसाइल उत्तर कोरिया की राजधानी प्योंगयांग के पास से दागी गयी जो करीब 550 किलोमीटर की ऊंचाई तक गयी और उसने 2700 किलोमीटर से ज्यादा की यात्रा की. 2009 के बाद ये पहला मौका है जब उत्तर कोरिया की कोई मिसाइल जापान के ऊपर से गुजरी है. जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने पत्रकारों से से बातचीत में इसे "अभूतपूर्व, गंभीर और भीषण खतरा" कहा है और साथ ही यह भी कि जापान उत्तर कोरिया के साथ इस मुद्दे पर "सख्त विरोध" जतायेगा.

शिंजो आबे का कहना है कि जापान अपने लोगों के जीवन की रक्षा के लिये हर संभव कदम उठायेगा. अमेरिकी राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप और शिंजो आबे के बीच फोन पर बातचीत हुई है जिसमें दोनों नेता उत्तर कोरिया के खिलाफ और ज्यादा दबाव बनाने पर रजामंद हुए हैं. दक्षिण कोरिया की मीडया के मुताबिक संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की मंगलवार को एक बैठक होने की भी उम्मीद की जा रही है.

जापान की सरकार के प्रवक्ता के मुताबिक मिसाल स्थानीय समय के मुताबिक सुबरह 5 बजकर 58 मिनट पर दागी गयी और यह उत्तरी द्वीप होक्काइदो के केप एरिमों के ऊपर से गुजरते हुए पूरब में 1180 किलोमीटर दूर जा कर गिरी. जापानी टेलिवीजन एनएचके से बातचीत में एक होक्काइदो की एक महिला सापोरो ने कहा, "किसी ने हमसे भागने को कहा, लेकिन मुझे समझ में नहीं आया कि किधर जाऊं."

जापान की कोदो न्यूज सर्विस ने एक अज्ञात सरकारी अधिकारी के हवाले से खबर दी है कि प्रशांत महासागर में गिरने से पहले इस मिसाइल को बीच में रोकने के लिए कोई कोशिश नहीं की गई. रक्षा मंत्री इतुनोरी ओनोदेरा ने पत्रकारों से कहा कि इस मिसाइल को रोकने के लिए कोई आदेश जारी नहीं किया गया क्योंकि इसके जापान की जमीन पर गिरने का खतरा नहीं था.

उधर दक्षिण कोरिया की सेना ने राष्ट्रपति मून जेई इन की तरफ से ताकत का प्रदर्शन करने के लिए मिले आदेश के बाद लड़ाकू विमानों से उत्तरी प्रांत गांगवान के शूटिंग रेंज में कुछ बम गिराये हैं. उत्तर कोरिया की तरफ से मिसाइल छोड़े जाने के बाद उत्तर पूर्वी और पूर्वी जापान के कुछ इलाकों में रेल सेवा थोड़ी देर के लिए रोक दी गई.

उत्तर कोरिया का मिसाइल परीक्षण अमेरिका और दक्षिण कोरिया ने 11 दिनों के सालाना युद्धअभ्यास के बाद हुआ है. उत्तर कोरिया ने इस युद्धाभ्यास को "असावधान, आक्रामक, युद्ध की पैंतरेबाजी कहा है. युद्धभ्यास के दौरान पिछले सोमवार को सरकारी अखबार केसीएनए में उत्तर कोरिया के सैन्य प्रवक्ता ने धमकी दी है कि इसका, "क्रूर जवाब और सजा" दी जायेगी.

इससे पहले उत्तर कोरिया ने शनिवार को भी जापान सागर में तीन मिसाइलें दागी. अमेरिका प्रशांत कमांड ने इसकी पुष्टि की है कि इनमें से दो ने करीब 250 किलोमीटर लंबी उड़ान भरी. पिछले हफ्ते अमेरिका और जापान ने उन संगठनों और लोगों पर नये प्रतिबंध लगाने का एलान किया जो उत्तर कोरिया का समर्थन करते हैं. इनमें चीन और रूस भी शामिल हैं.

अमेरिका ने भी सफलतापूर्वक गुटबाजी कर संयुक्त राष्ट्र से इस महीने की शुरूआत में उत्तर कोरिया पर प्रतिबंध लगवाया जिसके कारण उत्तर कोरिया को निर्यात से होने वाली कमायी करीब एक तिहाई घट जाएगी. उत्तर कोरिया और अमेरिका के बीच तनाव इस महीने काफी ज्यादा बढ़ गया जब उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन ने गुआम को निशाना बनाने और डॉनल्ड ट्रंप ने उत्तर कोरिया पर आग और क्रोध की बारिश कराने की धमकी दी.

एनआर/ओएसजे (डीपीए)

DW.COM

संबंधित सामग्री