1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

विज्ञान

जानवरों के लिए फिटनेस स्टूडियो

डॉक्टर हर बीमारी की रोकथाम के लिए वजन पर कंट्रोल रखने की हिदायत देते हैं. अमेरिका में तो घरेलू जानवरों के लिए भी फिटनेस का रिवाज चल निकला है.

अमेरिका में कम से कम आठ करोड़ कुत्ते और बिल्लियां मोटापे का शिकार हैं और इनके लिए खास फिटनेस स्टूडियो चलाए जा रहे हैं. यानि पहले आप खुद जिम जाएं और उसके बाद अपने कुत्ते को भी ट्रेडमिल पर भगाने की तैयारी करें.

अमेरिका की एक तिहाई से ज्यादा आबादी मोटापे का शिकार है. स्कूली बच्चों में भी जंक फूड के चलते मोटापा दर्ज किया जा रहा है. यहां तक कि ऐसे भी मामले आ रहे हैं जहां नवजात शिशुओं का वजन भी सामान्य से अधिक है. बदलते खानपान के असर के कारण अब इंसानों के साथ साथ जानवर भी इस बीमारी का शिकार हो रहे हैं. जाहिर है लोग खुद जिस तरह का खाना खाएंगे अपने पालतू जानवरों को भी वैसा ही खिलाएंगे. यही वजह है कि अमेरिका में आठ करोड़ से भी ज्यादा कुत्ते और बिल्लियां मोटापे का शिकार हैं.

जानवरों की इस परेशानी ने एक नए बिजनेस आइडिया को जन्म दिया है. लोग अब जानवरों को भी जिम में दौड़ा रहे हैं. कैलिफोर्निया के 'डर्टी डॉग्स' जिम में लोग अपने पालतू जानवरों की सेहत का ख्याल रखने के लिए महीने के सौ डॉलर यानि 6,000 रुपये से ज्यादा खर्च रहे हैं. सिर्फ दौड़ना भागना ही नहीं, यहां जानवर वेट ट्रेनिंग करके मांस पेशियों को भी तंदुरुस्त बना सकते हैं.

अगर आपको जिम का माहौल पसंद नहीं तो आप सड़क पर उनसे जॉगिंग भी करवा सकते हैं. लेकिन इसके लिए आपको भी बाहर निकलना होगा और खुद भी साथ साथ भागना पड़ेगा. ऐसा करने के लिए समय या मन ना हो तो आप 'डॉग वॉकर' को यह काम सौंप सकते हैं. इसके लिए महीने का खर्च है 60 डॉलर.

कहा जा सकता है कि नए साल में अमेरिका के लोगों ने सिर्फ अपना ही नहीं, अपने पालतू जानवरों का वजन कम करने की भी ठान ली है.

आईबी/एमजे (डीपीए)

DW.COM

संबंधित सामग्री