1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मंथन

जादुई पोलर लाइट

सुबह सूरज निकलता है, शाम को ढल जाता है..पर कैसा हो अगर कई महीनों तक सूरज ढले ही नहीं और जब ढले तो फिर महीनों तक निकले ही ना. उत्तरी ध्रुव पर ऐसा ही होता है.

नॉर्थ पोल से करीब साढ़े तीन सौ किलोमीटर दूर नॉर्वे का शहर है ट्रॉमजोय. जनवरी से मार्च के बीच यहां कुदरत का एक अनोखा नजारा देखने को मिलता है. गहरे नीले आसमान में कभी हरी तो कभी गुलाबी रोशनी देखने को मिलती है. इसे नदर्न लाइट्स या फिर ऑरोरा कहते हैं. ट्रॉमजोय में दिन में भी खूबसूरत ध्रुवीय रोशनी का मजा लिया जा सकता है, नॉर्वे के सबसे बड़े प्लानेटोरियम में. यहां हर दिन लाइट की तस्वीरों का अनुभव कीजिए. आधे घंटे तक रोमांचक पोलर लाइट की तस्वीरों का अनुभव कीजिए.

शाम को जब ट्रॉमजोय में अंधेरा छाने के साथ शहर में थोड़ी बेचैनी सी होती है. सैलानी पूरी तरह से तैयार होते हैं. उन्हें बसों में भर कर शहर के बाहरी इलाकों में ले जाया जाता है, पोलर रोशनी की खोज में. लेकिन रोशनी देखने को मिलेगी, इसकी कोई गारंटी नहीं होती.

सैलानियों को शहर के बाहर ले जाया जाता है, एक ऐसी जगह जहां घुप्प अंधेरा हो, और कोई बादल न हों ताकि नजारा साफ देखा जा सके. पर्यटकों को ये नजारा दिखाने ले जाने वाली कारिना वाइनशेंक बताती हैं, "अगर आप तस्वीर लेना चाहते हैं तो आपको सिर्फ पहाड़ों को फोकस करना होगा. और पहाड़ काफी दूर हैं. अगर आपके कैमरे में इन्फिनिटी नहीं है तो पहाड़ को फोकस कर दीजिए. यदि पहाड़ साफ दिख रहा है तो आप बाद में उत्तरी रोशनी की तस्वीर ले सकते हैं."

हर किसी को शुरू में तकनीक के मामले में मदद की जरूरत होती है. तकनीक समझ में आ जाने के बाद बस इंतजार होता है, पोलर लाइट का, "अगर आसमान साफ हो, तो पोलर लाइट देखी जा सकती है, लेकिन हो सकता है ना भी दिखे. सबसे कम समय जो मैंने देखा है, पांच मिनट, कभी पूरी रात भी हो सकता है. या फिर एकाध घंटे या सिर्फ आधा घंटा."

पोलर लाइट की तलाश में भटकने वाले सैलानियों की कोई कमी नहीं. ऐसे में अगर बर्फ गिर रही हो तो टेंशन हो जाता है कि पता नहीं आसमान साफ होगा या नहीं. लेकिन कई बार बादल छंट जाते हैं और रोशनी दिखाई दे जाती है. इसलिए टूर गाइड सलाह देते हैं कि मौसम अगर हल्का सा खराब हो घर से निकल ही जाना चाहिए. ऑस्ट्रेलिया से आए हॉवर्ड बोलैंड एक हफ्ते ट्रॉमजोय में हैं और कई बार ये रोशनी देखने गए हैं. अपने अनुभव के बारे में वह बताते हैं, "हम पोलर लाइट देखने नॉर्वे आए हैं. हम यहां ट्रॉमजोय में एक हफ्ते से हैं और रोशनी देखने के लिए तीन टूअरों पर निकले हैं. हर बार कुछ अलग अनुभव हुआ है, हमने उसे देखा है. बहुत रोमांचक रहा, हमें बहुत ही मजा आया."

अक्सर पर्यटक ग्रुप और गाइड पोलर लाइट की तलाश में नॉर्वे के ट्रॉमजोय से फिनलैंड की सीमा के नजदीक चले जाते हैं. कभी खूबसूरत पोलर लाइट्स दिखाई दे जाती हैं और कभी खाली हाथ ही लौटना पड़ता है.

रिपोर्टः महेश झा

संपादनः आभा मोंढे

DW.COM