1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

जवान हैं मिस्टर इंडिया

मिस्टर इंडिया अनिल कपूर ने श्रीदेवी के साथ कई हिट फिल्में की हैं. वह अब फिल्मों में लगातार काम कर रहे हैं. पेश हैं उनसे बातचीत के कुछ अंश

डॉयचे वेलेः आप पर बढ़ती उम्र का कोई असर नहीं नजर आता. इसकी वजह ?

अनिल कपूरः मुझे इस मामले में भाग्यशाली कह सकते हैं. यह भगवान या प्रकृति का आशीर्वाद है कि उम्र बढ़ने की स्वाभाविक प्रक्रिया मुझ पर उतना ज्यादा असर नहीं डाल सकी है.

स्लमडॉग मिलियनेयर में भारी-भरकम भूमिका निभाने के बाद आपने मिशन इम्पॉसिबल-घोस्ट प्रोटोकॉल में इतनी छोटी भूमिका के लिए हामी क्यों भरी ?

देखिए, कोई भी किरदार छोटा नहीं होता. यह वैसे लोगों के चोंचले हैं जिनमें अभिनय प्रतिभा नहीं होती या फिर आत्मविश्वास की कमी होती है. ऐसे बहुत से अभिनेता हैं जो पूरी फिल्म में छाए रहने के बावजूद कोई छाप नहीं छोड़ पाते. लेकिन कुछ ऐसे भी हैं जो छोटी-सी भूमिका में ही अपनी गहरी छाप छोड़ जाते हैं. यहां लोगों को टीका-टिप्पणी में ज्यादा मजा आता है. लेकिन मैं इनकी परवाह नहीं करता.

क्या यह नहीं लगता कि इतने लंबे अरसे से काम करने के बावजूद हिंदी फिल्मोद्योग में आपको वह जगह नहीं मिली जो मिलनी चाहिए थी ?

देखिए मैं अपने काम से संतुष्ट हूं. मैं अभिनय को पेशे के तौर पर लेता हूं और मुझे इसमें बेहद मजा आता है. मैं इस फेर में नहीं पड़ता कि किसे कहां जगह मिली या नहीं मिली.

Anil Kapoor

इतनी कामयाबी के बावजूद आप प्रचार पर ध्यान नहीं देते. हमेशा लो-प्रोफाइल में रहने की कोई खास वजह ?

कुछ खास वजह नहीं. हर अभिनेता की अपनी पहचान होती है. मैं न तो दूसरों की तरह हो सकता हूं और न ही दूसरे मेरी तरह. आप ही बताएं क्या सलमान खान कभी शाहरुख की तरह हो सकते हैं ? मैं चाहूं भी तो कभी अमिताभ बच्चन नहीं बन सकता. हर अभिनेता की अलग पहचान और दर्शक वर्ग है.

इतने लंबे अरसे तक फिल्मोद्योग में टिके रहने का राज क्या है ?

कोई राज नहीं. मेरा दर्शन बेहद सीधा-सादा है. फिल्में करता गया, कामयाबी मिलने पर वाहवाही भी मिलती रही. बस यूं ही आगे बढ़ता रहा.

आप विज्ञापनों में भी नजर नहीं आते ?

मैंने तो पहले ही कहा है कि मैं दूसरों की तरह नहीं हूं. मैं वही करता हूं जो मुझे अच्छा लगता है. मेरी कोशिश यह रहती है कि दर्शक जब मेरी फिल्म देखने आएं तो उनको मेरा अभिनय पसंद आए. उनका पैसा वसूल हो जाए.

एक पिता या कलाकार के तौर पर अपनी पुत्री सोनम कपूर को कोई सलाह देते हैं ?

मैं उसे कोई सलाह नहीं देता. वह अपना अच्छा-बुरा खुद समझ सकती है. हमारे संबंध वैसे ही सामान्य हैं जैसे किसी पिता और पुत्री के बीच होता है.

भावी योजना ?

फिलहाल तो मिस्टर इंडिया 2 की पटकथा पर काम चल रहा है. इसके अलावा भी दुनिया भर से काम के कई प्रस्ताव हैं.

इंटरव्यूः प्रभाकर, कोलकाता

संपादनः आभा मोंढे

DW.COM

WWW-Links