1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

जर्मन राष्ट्रपति का भव्य स्वागत

भारत के दौरे पर गए जर्मनी के राष्ट्रपति योआखिम गाउक का तोपों की सलामी के साथ दिल्ली में भव्य स्वागत किया गया. इस दौरे में वह प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के अलावा कई नेताओं से मिलेंगे और बाद में कर्नाटक भी जाएंगे.

बुधवार को भारतीय राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने जब गाउक का स्वागत किया, तो दोनों देशों के राष्ट्रगान बजाए गए और उन्हें 21 तोपों की सलामी दी गई. गाउक को पूरे सैनिक सम्मान के साथ राष्ट्रपति भवन में ले जाया गया. जर्मन राष्ट्रपति ने दोनों देशों के रिश्तों को शानदार बताते हुए कहा कि भारत और जर्मनी विश्व के सबसे पुराने लोकतंत्र हैं. उन्होंने कहा कि भविष्य में दोनों देशों के रिश्ते और बेहतर होंगे.

गाउक इसके फौरन बाद महात्मा गांधी की समाधि राज घाट पर गए और उन्होंने वहां फूल चढ़ाए. वहां रखी पुस्तिका में गाउक ने महात्मा गांधी की ही बात लिखी, "अगर मनुष्य खुद में बदलाव कर ले, तो वह दुनिया बदल सकता है." जर्मन राष्ट्रपति ने लिखा, "अहिंसा और अन्याय के खिलाफ उनका संघर्ष दुनिया भर के लोगों को प्रेरित करता है और भविष्य में भी करता रहेगा. यह प्रेरणा है और उम्मीद भी."

Gauck Ankuft in Neu Delhi

दिल्ली में तोपों की सलामी के साथ भव्य स्वागत

जर्मन राष्ट्रपति को भारतीय प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से भी मिलना है. दिल्ली में संसद सत्र की शुरुआत की वजह से दोनों नेताओं की बातचीत बाद में होगी. गाउक के साथ उनकी पार्टनर डानिएला शाट और जर्मन विकास मंत्री गेर्ड मुलर भी भारतीय दौरे पर हैं. उनके साथ जर्मनी का एक शीर्ष स्तरीय उद्योग प्रतिनिधिमंडल भी भारत गया है.

दोनों देशों में आर्थिक गठजोड़ और कारोबार बढ़ाने के अलावा नागरिक समाज और गरीबी उन्मूलन पर भी बातचीत होगी. दिल्ली में वह दिल्ली के नए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से भी मिल सकते हैं. केजरीवाल ने पहले गाउक के साथ मिलने से इनकार कर दिया था. लेकिन बाद में भारत में जर्मनी के राजदूत मिषाएल श्टाइनर की सिफारिश पर उन्होंने इस मुद्दे पर दोबारा विचार करने का भरोसा दिया.

दिल्ली में मुलाकातों के बाद गाउक कर्नाटक की राजधानी बैंगलोर चले जाएंगे. वहां वे आईटी उद्योग से जुड़े लोगों से मुलाकात करेंगे. भारत दौरे के बाद उन्हें बर्मा जाना है.

एजेए/एमजे (डीपीए)

DW.COM

संबंधित सामग्री