1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

जर्मन टीम से कप्तान बालाक की छुट्टी

जर्मनी के सबसे अनुभवी फुटबॉलर और नियमित कप्तान मिषाएल बालाक को टीम से बाहर कर दिया गया है. यूरो कप क्वालीफाइंग के लिए 21 खिलाड़ी चुने गए पर बालाक शामिल नहीं हैं. वर्ल्ड कप में कप्तानी कर चुके लाम संभाल सकते हैं कमान.

default

कप्तान की छुट्टी

बालाक शायद अपने करियर और जिन्दगी के सबसे खराब मोड़ से गुजर रहे हैं. पहले चोट ने वर्ल्ड कप छीना, फिर मशहूर इंग्लिश क्लब चेल्सी ने बाहर का रास्ता दिखा दिया, फिर सारे इश्तेहार छिनने लगे, नाम सेक्स स्कैंडल में घसीटा गया और अब कप्तानी भी गई, टीम से भी छुट्टी.

हालांकि टीम के कोच योआखिम लोएव का कहना है कि 33 साल के मिडफील्डर अभी फिट नहीं हैं और फिट होने के बाद उन्हें फिर से टीम में शामिल करने पर विचार किया जा सकता है.

Flash-Galerie Bundesliga 1. Spieltag Leverkusen Michael Ballack

मई में टखने में चोट क्या लगी, बालाक की जिन्दगी में भूचाल आ गया. चेल्सी से निकाले जाने के बाद उन्होंने जर्मनी की औसत लीग टीम बायर लेवरकूजेन से खेलना शुरू किया. पिछले हफ्ते उन्होंने मैच में पूरे डेढ़ घंटे ग्राउंड पर बिताए, लिहाजा उनकी फिटनेस पर ज्यादा सवाल उठाना मुश्किल है. लोएव का कहना है कि उन्होंने खुद बालाक से बात की है और इस बात पर सहमति बन गई है कि यूरो कप 2012 क्वालीफाइंग मुकाबले के लिए शुरू के दो मैचों में बालाक का नाम नहीं होगा. जर्मनी को तीन सितंबर को बेल्जियम से खेलना है, जबकि चार दिन बाद अजरबैजान से.

लोएव का कहना है, "गंभीर चोट के बाद बालाक तंदुरुस्त हो रहे हैं और हर कोई इससे खुश है. अहम बात यह है कि वह लेवरकूजन में अपने सर्वश्रेष्ठ फॉर्म में लौटे हैं." लेवरकूजन के निदेशक रूडी फोलर का कहना है कि बालाक को राष्ट्रीय टीम में शामिल नहीं करने का फैसला अच्छा है.

Flash-Galerie Michael Ballack

बालाक का करियर इस पड़ाव पर पहुंच चुका है, जहां से आम तौर पर बाहर का दरवाजा खुलता है. अगर वापसी होती भी है, तो यह सवाल बना रहेगा कि क्या उन्हें कप्तान भी बनाया रखा जाएगा. कुल मिला कर मिषाएल बालाक की स्थिति अब धीरे धीरे भारत के पूर्व क्रिकेट कप्तान सौरव गांगुली जैसी होती जा रही है. जो कभी टीम के सूरमा हुआ करते थे लेकिन स्थितियां ऐसी बनीं कि उन्हें टीम में बने रहने के लिए एड़ी चोटी का जोर लगाना पड़ा और आखिरकार उनका करियर खत्म हो गया.

टीम में बालाक के रहने पर कप्तानी का सवाल उठ सकता था क्योंकि फिलिप लाम कह चुके हैं वे अपने बाजू पर कप्तान का बिल्ला लगा देखना चाहते हैं. लेकिन बालाक के न रहने पर कोई मुश्किल नहीं. वर्ल्ड कप में टीम को सेमीफाइनल तक पहुंचाने वाले लाम कप्तान घोषित किए जा सकते हैं. हालांकि अभी इसका एलान नहीं किया गया है. लेवरकूजन के गोलकीपर रेने आडलर को टीम में फिर से बुला लिया गया है, जो चोट की वजह से फीफा वर्ल्ड कप में नहीं खेल पाए थे.

रिपोर्टः रॉयटर्स/ए जमाल

संपादनः आभा एम