1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

जर्मन ग्रां प्री से बाहर हुए चंडोक

25 जुलाई से जर्मन ग्रां प्री शुरू होने वाली है और इसके ठीक एक सप्ताह पहले हिस्पेनिया टीम के ड्राइवर करुण चंडोक को बाहर कर दिया गया है. वे जर्मन ग्रां प्री में हिस्पेनिया टीम के लिए गाड़ी नहीं चलाएंगे.

default

जर्मनी में फार्मुला वन में हिस्पेनिया(एचआरटी) के चालक जापान के साकोन यामामोतो होंगे और उनके साथ ब्राजील के ब्रूनो सेना. लेकिन चंडोक को पूरी उम्मीद है कि वे जल्द ही रेस में लौटेंगे. योजना के मुताबिक चंडोक जर्मनी के हॉकनहाइम में जाएंगे. चंडोक ने कहा, "आखिरकार उन्होंने मुझे फार्मुला वन में हिस्सा लेने का मौका दिया." 

Karun Chandhok

करुण चंडोक

चंडोक फिलहाल भारत से इकलौते ड्राइवर हैं जो फार्मुला वन में भाग ले रहे हैं. उन्हें उम्मीद है कि जब अगले साल ग्रां प्री भारत में होगी तो वे टीम का हिस्सा होंगे. चंडोक को उम्मीद है कि अगली रेस में वे शामिल होंगे. "इसका मतलब ये बिलकुल नहीं है कि मैं बुडापेस्ट में कार में नहीं लौटूंगा. हम हॉकनहाइम में बैठेंगे और हर रेस के बाद तय करेंगे. ऐसा मानने का कोई कारण नहीं है कि मैं बहुत ज्यादा समय के लिए रेस से बाहर रहूंगा. मुझे बहुत चिंता नहीं है." 

26 साल के चंडोक फिलहाल नई टीमों के ड्राइवर्स में रैंकिग में दूसरे नंबर पर हैं. हिस्पेनिया टीम ने जारी बयान में कहा है कि यामामोतो को उनके अच्छे प्रदर्शन के कारण रखा गया है. पिछली रेस में जापानी चालर 20वें नंबर पर थे और चंडोक 10वें नंबर पर. समझा जाता है कि यामामोतो के कारण आर्थिक मुश्किलों से जूझ रही टीम की वित्तीय हालत ठीक होगी, इसी  कारण उन्हें रखा गया है. हालांकि टीम ने ये भी कहा है, "करुण चंडोक हिस्पेनिया रेसिंग, एचआरटी फार्मुला वन टीम का हिस्सा हैं और आने वाली रेसों में वे लौट सकते हैं."

रिपोर्टः एजेंसियां/आभा एम

संपादनः एस गौड़   

संबंधित सामग्री