1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

जर्मनी में हमले की साजिश में जुटा संदिग्ध पकड़ा गया

जर्मनी में 19 साल के एक सीरियाई युवक को हमले की साजिश रचने के संदेह में पकड़ा गया है. अभियोजकों के मुताबिक यह शख्स उच्च विस्फोटकों का इस्तेमाल कर हमला करने की फिराक में था.

जर्मनी के संघीय अभियोक्ता कार्यालय ने मंगलवार को बयान जारी कर बताया है कि आतंकी हमले की साजिश रचने में जुटे एक सीरियाई युवक को जर्मन शहर श्वेरिन से पकड़ा गया है. संदिग्ध की पहचान 19 साल के यामेन ए के रूप में हुई है और उसे फिलहाल पुलिस हिरासत में रखा गया है. अभियोजकों के बयान में कहा गया है कि इस किशोर "पर इस्लाम से प्रेरित हमले की योजना बनाने के मजबूत संदेह हैं" जिसमें "उच्च विस्फोटकों" का इस्तेमाल होना था.

अधिकारियों ने इसके साथ ही कहा है कि यामेन ए ने पहले से ही हमले के लिए "ठोस रूप से तैयारी" कर रखी थी. बयान में कहा गया है, इसी साल जुलाई में संदिग्ध ने जर्मनी में एक विस्फोटक उपकरण में धमाका करने का फैसला किया ताकि "जितना संभव हो उतना ज्यादा से ज्यादा लोगों को मारा जा सके."

यामेन ए ने विस्फोटक उपकरण बनाने के लिए रसायन समेत दूसरी चीजें जुटानी शुरू कर दी थी. अभियोजकों का कहना है कि शुरुआती जांच में यह पता नहीं चल सका है कि संदिग्ध ने हमले की जगह का चुनाव किया था या नहीं. इसके साथ ही अभियोजकों ने यह भी कहा है कि अभी तक यामेन ए के किसी आतंकी संगठन से जुड़े होने के संकेत नहीं मिले हैं.

जर्मनी के उत्तरी शहर श्वेरिन और हैम्बर्ग में संदिग्ध के अपार्टमेंट के साथ ही कुछ और लोगों के अपार्टमेंट की तलाशी ली गयी है. हालांकि इन दूसरे लोगों पर हमले की साजिश में शामिल होने का संदेह फिलहाल नहीं है. 

2016 में जर्मनी में कई आतंकवादी हमले हुए जिनमें दिसंबर में बर्लिन के क्रिसमस मार्केट पर हुआ हमला भी शामिल है जब एक ट्यूनीशियाई ड्राइवर ने लोगों की भीड़ पर ट्रक चढ़ा दी थी. इस हमले में 12 लोगों की मौत हुई. पिछले साल जुलाई में 27 साल के एक सीरियाई शरणार्थी ने दक्षिणी जर्मनी के आंसबाख में एक म्यूजिक फेस्टिवल के बाहर विस्फोट कर दिया जिसमें हमलावर समेत 15 लोगों की जान गई.

एनआर/एमजे (डीपीए, एपी)

 

DW.COM

संबंधित सामग्री