1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

विज्ञान

जर्मनी में स्ट्रीट व्यू पर गूगल का रुख नरम

जबरदस्त विरोध और दबाव के बाद गूगल ने जर्मनी में स्ट्रीट व्यू नेविगेशन लागू करने से पहले लोगों को दी गई समयसीमा दोगुनी कर दी है. जर्मनी में जो लोग नहीं चाहते कि उनके घरों की सीधी तस्वीरें इंटरनेट पर जाए, वे मिटा सकते हैं.

default

विशेष गाड़ियों से तस्वीरें

गूगल ने कहा है कि जर्मनी के लोगों की चिंताओं को देखते हुए उसने अपनी समयसीमा 15 अगस्त से बढ़ा कर 15 अक्तूबर कर दिया है. इस दौरान जो लोग नहीं चाहते कि उनके घरों की तस्वीरें इंटरनेट पर सार्वजनिक हों, उन्हें ब्लर कर दिया जाएगा यानी उन्हें धुंधला कर दिया जाएगा ताकि वे दिखाई न दें.

गूगल की इस महत्वाकांक्षी परियोजना के तहत देश भर में उसकी बड़ी बड़ी गाड़ियां घूमेंगी, जो गलियों की तस्वीरें लेंगी और इन तस्वीरों को इंटरनेट पर जारी कर दिया जाएगा. गूगल मैप पर इन तस्वीरों को देखा जा सकेगा. गूगल दुनिया के कई दूसरे देशों में भी ऐसा कर रहा है.

NO FLASH Google Street View

लेकिन जर्मनी में डाटा संरक्षण के संवेदनशील मामले को देखते हुए गूगल ने लोगों को इस बात का समय दिया है कि अगर वे नहीं चाहते हैं कि उनकी इमारतों की तस्वीरें गूगल स्ट्रीट के जरिए गूगल मैप पर जाएं, तो वे इन्हें मिटा सकते हैं. पहले गूगल ने इस काम के लिए लोगों को 15 सितंबर तक का वक्त दिया था लेकिन जर्मनी में कई जगह गर्मी की छुट्टियां चल रही हैं और लोग घरों से बाहर हैं. ऐसे में उसने मीयाद बढ़ा कर 15 अक्तूबर कर दिया है.

इंटरनेट की सबसे बड़ी कंपनी अमेरिका के गूगल के यूरोपीय शाखा के प्रमुख फिलिप शिन्डलर ने अपने ब्लॉग में इस बात का एलान किया. उन्होंने कहा कि तस्वीरें ऑनलाइन होने के बाद भी उन्हें हटाने का अधिकार होगा.

गूगल इस साल के अंत तक जर्मनी में स्ट्रीट व्यू को लागू कर देना चाहता है. उसके बाद सिर्फ ऑनलाइन तस्वीरों को ही हटाया जा सकेगा. गूगल ने कहा है कि वह जर्मनी के लोगों के लिए खास तौर पर ज्यादा रियायत बरत रहा है.

जर्मनी में उपभोक्ता मामलों की मंत्री इलसे ऐगनर ने गूगल के इस फैसले का स्वागत किया है, जिसमें समय बढ़ाने की बात कही गई है. गूगल ने कहा है कि वह हर अनुरोध को ईमेल से पाना चाहता है और इस बात को सुनिश्चित करना चाहता है कि कोई गलत तरीके से दूसरे के घरों को न हटाने की मांग कर दे. कंपनी ने साफ कर दिया है कि अगर किसी अपार्टमेंट में रहने वाला एक शख्स भी नहीं चाहता हो कि उसका घर दिखे, तो पूरे अपार्टमेंट को धुंधला यानी ब्लर कर दिया जाएगा.

Flash-Galerie Deutschland Wochenrückblick 2010 KW 32

ऐगनर ने कहा है कि उन्हें इस बात का भय है कि कोई कंपनी ऐसा सॉफ्टवेयर विकसित न कर ले, जिससे तस्वीरों में दिख रहे लोगों के चित्र से उनकी पहचान हो जाए और फिर इसका गलत इस्तेमाल हो. उन्होंने बताया कि गूगल और दूसरी कंपनियां फेसियल डिटेक्शन सॉफ्टवेयर इस्तेमाल कर रही हैं, जिससे चेहरे को धुंधला कर दिया जाता है और बाकी की तस्वीर साफ रहती है. गूगल मैप पर जाकर गूगल स्ट्रीट में देखने से ऐसी छवि देखी जा सकती है.

लेकिन जर्मन मंत्री को चिंता इस बात की है कि अगर ऐसा सॉफ्टवेयर तैयार हो गया, जिससे धुंधली तस्वीर साफ दिखने लगे तो फिर किसी का निजी डाटा सुरक्षित नहीं रह पाएगा.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए जमाल

संपादनः एन रंजन

DW.COM

WWW-Links