जर्मनी में सेल्फ ड्राइविंग कारों को मंजूरी | दुनिया | DW | 13.05.2017
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

जर्मनी में सेल्फ ड्राइविंग कारों को मंजूरी

कार उद्योग के पावर हाउस कहे जाने वाले जर्मनी ने सेल्फ ड्राइविंग कारों को मंजूरी दी. मंजूरी के तहत खुद चलने वाली कारों में विमानों की तरह ब्लैक बॉक्स लगाया जाएगा.

जर्मन संसद के ऊपरी सदन ने खुद चलने वाली कारों के विकास और उनके परीक्षण को मंजूरी दे ही दी. संसद ने निचले सदन में इस प्रस्ताव को अक्टूबर में ही पास किया जा चुका है. अब विधेयक कानून की शक्ल लेगा. जर्मनी के परिवहन मंत्री अलेक्जांडर डोब्रिंट के मुताबिक, खुद चलने वाली कारें "कार के आविष्कार के बाद यातायात क्षेत्र की सबसे बड़ी क्रांति हैं."

हालांकि फोल्क्सवागेन, डायम्लर और बीएमडब्ल्यू जैसी दिग्गज कार कंपनियों वाले देश ने देर से यह फैसला किया है. सेल्फ ड्राइविंग कारों को खास शर्तों के तहत जर्मन सड़कों पर उतारा जाएगा. रोड टेस्ट के दौरान इंसान को ड्राइविंग सीट पर बैठे रहना होगा. हालांकि वह स्टीयरिंग से हाथ हटा सकता है. खुद चलती, मुड़ती या ब्रेक लगाती कार में बैठा इंसान इंटरनेट का इस्तेमाल भी कर सकता है.

विधेयक में साफ तौर पर कहा गया है कि कार के चलते समय ब्लैक बॉक्स को काम करना पड़ेगा. हादसे की स्थिति में ब्लैक बॉक्स बताएगा कि दुर्घटना कैसे हुई. अगर हादसा सिस्टम की गलती से हुआ तो उसकी जिम्मेदार कार कंपनी होगी.

दो साल बाद कानून की समीक्षा की जाएगी. समीक्षा के दौरान प्रयोग के नतीजों और नये तकनीकी विकास के डाटा को मिलाया जाएगा. सेल्फ ड्राइविंग कार के डाटा की सुरक्षा के लिए अभी पुख्ता इंतजाम किये जाने बाकी हैं. अमेरिका, जापान और स्वीडन में काफी पहले से सेल्फ ड्राइविंग कारों पर काम चल रहा है. कार उद्योग के जानकारों के मुताबिक बड़े पैमाने पर ये कारें 2020 से पहले चलन में नहीं आ सकेंगी.

(इन कारों में घूमते हैं राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री)

ओएसजे/आरपी (रॉयटर्स)

 

DW.COM

संबंधित सामग्री