1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

जर्मनी में विश्व बंधुत्व के लिए बना मोर्चा

बर्लिन में नए सिविल सोसायटी संगठन की पहल हुई है जिसका मकसद विश्व बंधुत्व, एकजुटता और लोकतंत्र को बढ़ावा देना और असहिष्णुता व हिंसा का विरोध करना है. संस्थापकों में से एक जर्मन ट्रेड यूनियन के प्रमुख राइनर हॉफमन हैं.

जर्मनी पिछले दिनों आए बहुत से शरणार्थियों और आप्रवासियों के कारण एक नई और बड़ी चुनौती का सामना कर रहा है. और चूंकि वह असामान्य है, इसलिए अब उसी तरह के एक असामान्य और अनोखे संगठन, विश्व बंधुत्व, एकजुटता, लोकतंत्र और कानूनी राज्य सहबंध का गठन किया गया है. यह संगठन असहिष्णुता, इंसानों से विद्वेष और हिंसा के खिलाफ संघर्ष करेगा. सामाजिक, खेल, सांस्कृतिक और धार्मिक संगठनों से बना यह सहबंध जर्मनी का अब तक का सबसे बड़ा सिविल सोसायटी संगठन है.

अपनी अपील के साथ हम स्पष्ट और फौरी राजनीतिक संदेश देना चाहते हैं. हां, चुनौतियां विशाल हैं. लेकिन हमें विश्वास है कि हम उनका नागरिक समाज और शरणार्थियों के सहयोग से सामना कर सकते हैं. यह बिना कठिन प्रयासों के पूरा नहीं होगा, हमारी ओर से और भागकर हमारे यहां आए लोगों की ओर से भी. जैसा कि अपील में कहा गया है कि यह शर्तों और नियमों के बिना भी नहीं हो पाएगा और और न हीं शिक्षा, संरचना और कर्मचारियों में निवेश के बिना.

Bundeskongress des Deutschen Gewerkschaftsbundes (DGB) in Berlin

राइनर हॉफमन

हमें उन लोगों के खिलाफ स्पष्ट रुख की जरूरत है जो इस चुनौती का जवाब नस्लवाद, मानव विद्वेष और घृणा से दे रहे हैं. शरणार्थी कैंपों पर 900 से ज्यादा हमले और कई यूरोपीय देशों में दक्षिणपंथियों के उभार के साथ ऐसा विकास शुरू हुआ है, जिसे हमें रोकना होगा. शरणार्थी कैंपों पर हर हमला एक हमला ज्यादा है. यह साफ करना होगा कि इससे कहीं बड़ा और महत्वपूर्ण आंदोलन वह है जो इस समय जर्मनी में और शरणार्थियों को पनाह देने वाले दूसरे देशों में दिख रहा है. हजारों मददगारों की उदार सक्रियता और स्थानीय निकायों, स्कूलों, पुलिस शरणार्थी कैंपों के कर्मचारियों की अथक मेहनत. इस अपील के साथ हम उग्र दक्षिणपंथियों के खिलाफ आवाज उठा रहे हैं, भले ही वे किसी नाम के साथ सक्रिय हैं और लोगों से सड़कों पर, काम की जगहों पर और इंटरनेट में उनके खिलाफ सक्रिय होने की अपील करते हैं.

हमने यह सहबंध बनाने की पहल की है क्योंकि काम की जगहों पर, चाहे वे दफ्तर हो या फैक्टरी या दुकानें, लोगों के बीच मेलजोल अपने हर रूप में जिया जाता है. यहां दशकों से विभिन्न संस्कृतियों और देशों के लोग एक दूसरे से मिलते रहे हैं. लोग जो मिलजुल कर काम करते हैं, एक दूसरे से परिचित होते हैं, और पराए नहीं रहते हैं. उन्हें समाज और दफ्तर में घुलाने मिलाने का काम हमारे ट्रेड यूनियन के सदस्य और कर्मचारी परिषद के सदस्य करेंगे. सहबंध में हमारे साथ अपने अपने संगठनों में अपील के लक्ष्यों को पूरा करने के लिए काम करेंगे, लेकिन हम साथ मिलकर भी काम करेंगे.

इस समय सहबंध में शामिल दस पार्टनर इस बात की कोशिश करेंगे कि इसमें और सदस्य शामिल हों, ये कुछ लोगों का कोई विशेष क्लब नहीं है. इसलिए हम आने वाले दिनों में और संभावित सहयोगियों, संगठनों या सार्वजनिक जीवन की प्रमुख शख्सियतों से सहयोग करने या हमारे साथ शामिल होने की अपील करेंगे.

राइनर हॉफमन जर्मन ट्रेड यूनियन महासंध के प्रमुख हैं और नए सहबंध की पहल करने वालों में शामिल हैं.

संबंधित सामग्री