1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

जर्मनी में विदेशी फुटबॉलरों का दबदबा कायम

वर्ल्ड कप में जर्मनी ने भले ही शानदार प्रदर्शन कर तीसरा नंबर हासिल कर लिया हो लेकिन जर्मनी के अंदर लगातार तीसरी बार किसी विदेशी फुटबॉलर को ही सबसे अच्छा फुटबॉलर चुना गया. इतना ही नहीं, इस बार सबसे अच्छा कोच भी विदेशी.

default

इस बार बाजी मारी है फीफा वर्ल्ड कप का फाइनल खेलने वाले नीदरलैंड्स के आर्यन रोबेन ने. जर्मन फुटबॉल लीग बायर्न म्यूनिख के लिए खेलने वाले रोबेन को 2010 में जर्मनी का सबसे अच्छा फुटबॉलर चुना गया. इससे पहले 2009 में फ्रांस के फ्रांक रिबेरी और 2008 में ब्राजील के ग्राफिट को फुटबॉलर ऑफ द ईयर चुना जा चुका है. रोबेन नीदरलैंड्स के पहले फुटबॉलर हैं, जिन्हें जर्मनी में यह सम्मान मिला है.

सबसे ज्यादा अंक

26 साल के रोबेन ने जर्मन फुटबॉल लीग बुंडेसलीगा के इस सीजन में अच्छा प्रदर्शन किया. इस चुनाव में उन्हें 445 अंक मिले, जो दूसरे नंबर से 265 अंक ज्यादा हैं. रोबेन की टीम बायर्न म्यूनिख बुंडेसलीगा चैंपियन बनने के साथ साथ जर्मन लीग चैंपियन भी बनी. उनकी टीम के लिए सिर्फ रोबेन ही नहीं, बल्कि उनके कोच भी लकी रहे. नीदरलैंड्स के ही लुई फान गाल को जर्मनी में इस साल सर्वश्रेष्ठ कोच चुना गया. जर्मन पत्रकारों की राय पर किकर पत्रिका ने यह रैंकिंग तय की.

रोबेन को इस सीजन में बेहद अहम खिलाड़ी माना गया और टीम के मुश्किल क्षणों में भी उनकी वजह से कई बार पासा पलटा. रोबेन ने बुंडेसलीगा के 24 मैचों में कुल 16 गोल किए और सात बार साथी खिलाड़ी को गोल करने में मदद की. इस चुनाव के मुताबिक रोबेन के बाद दूसरे से चौथे नंबर पर भी बायर्न म्यूनिख क्लब के खिलाड़ी हैं. दूसरे पर बास्टियन श्वान्सटाइगर, तीसरे पर थोमस म्यूलर और चौथे पर फिलिप लाम. वर्ल्ड कप में लाम ने ही जर्मन टीम की कप्तानी की. सिर्फ पांचवें नंबर पर ही म्यूनिख से बाहर का कोई खिलाड़ी जगह बना पाया, वोल्फ्स्बुर्ग के एडिन जेको.

Symbolbild Bayern-Trainer Louis van Gaal mit einer Königskrone

कोच भी विदेशी

यह पहला मौका है जब किसी विदेशी कोच को साल का सर्वश्रेष्ठ कोच बनने का मौका मिला. बायर्न म्यूनिख को कोचिंग देने वाले लुई फान गाल को पहले नंबर पर साफ बढ़त मिल गई. दूसरे नंबर पर शाल्के 04 के फेलिक्स मागाथ रहे, जबकि जर्मनी के राष्ट्रीय टीम के कोच योआखिम लोएव तीसरा नंबर ही जुटा पाए. हालांकि जर्मनी को वर्ल्ड कप में सेमीफाइनल तक पहुंचाने पर लोएव की काफी तारीफ हुई. फान गाल रविवार को ही 59 साल के हुए हैं और इस तरह यह उनका बर्थडे प्रेजेंट भी माना जा सकता है.

महिला वर्ग में इनका ग्रिंग्स को साल की बेहतरीन फुटबॉलर चुना गया. 31 साल की ग्रिंग्स एफसीआर ड्यूसबर्ग की तरफ से खेलती हैं. राष्ट्रीय टीम में खेलने वाली ग्रिंग्स से सिर्फ 20 अंकों की दूरी पर राष्ट्रीय टीम की दूसरी खिलाड़ी 22 साल की फैतमायर बजरामाज हैं. बजरामाज पोट्सडम के लिए खेलती हैं.

रिपोर्टः एजेंसियां/ए जमाल

संपादनः प्रिया एसेलबॉर्न

WWW-Links