1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

जर्मनी में बेरोजगारी बढ़ी

जर्मनी में 2013 के अंत में बेरोजगारी दर बढ़ी है. हालांकि जानकारों का कहना है कि हालात उतने खराब नहीं है, जितनी की आशंका थी. सर्दियों में आम तौर पर बेरोजगारी बढ़ जाती है.

दिसंबर में जर्मनी की बेरोजगारी दर में 0.2 फीसदी की वृद्धि हुई है और वह अब 6.7 प्रतिशत हो गई है. लेकिन यह मामूली वृद्धि है और जर्मनी की रोजगार एजेंसी बीए ने अपनी ताजा रिपोर्ट में कहा है कि नवंबर की तुलना में दिसंबर में बेरोजगारों की संख्या भले ही बढ़ी हो, पर पिछले साल दिसंबर की तुलना में यह कम है. 2013 के अंत में बेरोजगारों की संख्या 67,000 ज्यादा दर्ज की गयी. देश में कुल मिलाकर 28 लाख 73 हजार लोग बेरोजगार थे.

बीए के अध्यक्ष फ्रांक युर्गेन वाइजे का कहना है कि इसमें चिंता की कोई बात नहीं है, "हालांकि दिसंबर में बेरोजगार लोगों की संख्या में थोड़ी बढ़ोत्तरी देखी गयी, लेकिन इस महीने के लिए यह कोई नई बात नहीं है."

बीए का कहना है कि दिसंबर में छुट्टियां होने के कारण ऐसा होता है. साथ ही साल के अंत में कई लोगों के कॉन्ट्रेक्ट खत्म होते हैं और बहुत सी निर्माण परियोजनाओं में काम भी पूरा हो जाता है. दरअसल जर्मनी में आर्थिक साल जनवरी से दिसंबर तक होता है और साल के आखिरी महीने में क्रिसमस होने के कारण यह सार्वजानिक अवकाश का समय भी होता है. लेकिन अगर इन सब बातों को हटा कर पूरी स्थिति का जायजा लिया जाए तो बेरोजगारों की संख्या दर्ज की गयी संख्या से 15,000 कम है. पूरे साल के स्तर पर औसत बेरोजगारी दर अब भी 6.9 प्रतिशत रही है, जो एक साल पहले के मुकाबले 0.1 प्रतिशत ज्यादा है.

बीए के आंकड़े दिखाते हैं कि नवंबर में देश में नौकरीपेशा लोगों की संख्या 4.2 करोड़ रही जो कि रिकॉर्ड है. इस से पहले के महीनों में भी बाजार की हालत अच्छी रही. अक्टूबर की तुलना में नवंबर में बिक्री 1.5 फीसदी और पिछले साल नवंबर की तुलना में 1.6 फीसदी ज्यादा रही. वारेनगोल्ड बैंक की अनिता पलुच ने समाचार एजेंसी एपी से कहा कि इन आंकड़ों से पता चलता है कि जर्मनी की अर्थव्यवस्था और मजबूत होती जा रही है.

आईबी/एमजे (डीपीए/एपी)

DW.COM