1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

जर्मनी में गंदगी से 40,000 की मौत

जर्मनी में हर साल 10 लाख लोग अस्पतालों में सफाई की कमी की वजह से बीमार होते हैं और मारे जाते हैं. माना जाता है कि इनमें से 50 प्रतिशत इन्फेकशन को रोका जा सकता है.

जर्मनी की अस्पताल सफाई संस्था डीजीएचके के प्रमुख क्लाइस डीटर जास्त्रोव ने कहा कि अस्पताल अकसर इन आंकड़ों को कम करके बताते हैं या पुराने आंकड़ों का इस्तेमाल करते हैं. इनमें से लगभग 50 प्रतिशत संक्रमणों को रोका जा सकता है. लेकिन अस्पताल सफाई का सही ख्याल नहीं रखते हैं.

जास्त्रोव ने कहा कि इस मुद्दे में पारदर्शिता लाने की जरूरत है. अगर एक अस्पताल में संक्रमण का दर नौ प्रतिशत है तो यह जानकारी इंटरनेट में मुहैया करानी चाहिए. अगर ऐसा होता है तो मरीज के पास विकल्प है कि वह इस अस्तपाल में न जाए. डीजीएचके ने जर्मन अस्पतालों पर आरोप लगाया है कि वह पैसे तो जमा करते हैं लेकिन सफाई नहीं करते.

उद्योग लॉबी

डीजीएचके के मुताबिक अस्पताल कर्मचारी 2011 के कानूनों से खुश नहीं थे, जिसमें सफाई पर और ध्यान देने की बात थी. जास्त्रोव का कहना है कि जर्मन अस्पताल संघ जर्मन स्वास्थ्य मंत्रालय के करीब है लेकिन पैसा बचाने के लिए सफाई के मुद्दे को छोटा बना दिया जाता है.

जास्त्रोव ने कहा कि अस्पतालों को सफाई न होने के लिए सजा देनी चाहिए, "अगर अस्पताल का प्रमुख जानता है कि मुख्य डॉक्टर सफाई का ध्यान नहीं रखता, तो उसे काम से निकालना चाहिए. कानून यही कहता है."

एमजी/एजेए (डीपीए, केएनए)

DW.COM

संबंधित सामग्री