1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

ताना बाना

जर्मनी में खालिस्तान समर्थक संदिग्ध गिरफ्तार

जर्मन पुलिस ने खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स के दो संदिग्ध आतंकवादियों को गिरफ्तार किया. पुलिस के मुताबिक दोनों संदिग्धों के तार विदेशों से जुड़े हुए हैं. आरोप लगाया गया है कि यह सिख युवक हथियारों का इंतजाम करने में जुटे थे.

default

गिरफ्तार किए गए दोनों व्यक्ति भारतीय नागरिक हैं. 35 साल के सुखप्रीत सिंह और 41 साल के जगतार सिंह पर हथियार संबंधी नियम तोड़ने और विदेशी आतंकी संगठन के संबंध रखने के आरोप लगयाए गए हैं. एक को जर्मनी के हेसन और दूसरे को नार्थ राइन वेस्टफालिया राज्य से गिरफ्तार किया गया है.

अभियोजन पक्ष का कहना है कि दोनों संदिग्ध आतंकवादियों ने फर्जी दस्तावेजों के आधार पर दो सेमी ऑटोमैटिक हथियार खरीदे. अदालत में अभियोजन पक्ष ने कहा, ''इन पर 2009 में खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स से जुड़ने के आरोप हैं. हाल ही में यह हथियार की सप्लाई के लिए केजेडएफ के नेताओं के संपर्क में थे.''

जर्मनी की पुलिस जांच कहती है कि संदिग्ध भारत और विदेशों में भारतीय संस्थानों पर हमले की साजिश रच रहे थे. पुलिस के मुताबिक यूरोप में खालिस्तान जिंदाबाद फोर्स से जुड़े कई लोग मौजूद हैं. ये लोग चंदा वसूलते हैं और हथियार खरीदते हैं, पैसे और हथियारों को यूरोप में फैले नेटवर्क के जरिए पंजाब भेजा जाता है.

ऐसी रिपोर्टें समय समय पर आ रही हैं कि खालिस्तान मूवमेंट को फिर से खड़ा करने की कोशिश की जा रही है. यूरोप के अलावा कनाडा से भी खालिस्तानी जिंदाबाद फोर्स की गतिविधियों के समाचार आए दिन मिलने लगे हैं. ऐसी रिपोर्टों पर फिलहाल भारत सरकार किसी भी तरह की प्रतिक्रिया नहीं दे रही है.

रिपोर्ट: रॉयटर्स/ओ सिंह

संपादन: आभा एम

DW.COM