1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

जर्मनी के लिए डॉयचे पोस्ट का नया झुनझुना

जर्मन डाक सेवा डॉयचे पोस्ट ने ई ब्रीफ यानी ई पत्र नाम से एक नई सेवा शुरू की है. मतलब यह होगा तो एक ई मेल ही लेकिन उसे कोड वर्ड पहना कर भेजा जाएगा. इसके लिए एक बैंक खाता खोलना जरूरी होगा..

default

कुल 55 सेंट करीब यानी करीब 35-40 रुपये इस ई पत्र के लिए लगेंगे जो कि सामान्य पत्र के जितने ही हैं. जर्मनी में अगर आप किसी को पत्र भेजें तो उस पर 55 सेंट का ही टिकट लगता है.

लेकिन इसमें एक बात और है कि ई पत्र लिखने के बाद चुनाव कर सकते हैं कि ये पत्र इमेल जैसा मिले या पारंपरिक पत्र जैसा. अगर आप पारंपरिक पत्र की तरह इसे भेजना चाहते हैं तो पोस्ट ऑफिस में इस पत्र को प्रिंट किया जाएगा और फिर पोस्टमैन इसे दिए पते पर पहुंचा के आएगा. लेकिन इसमें पत्र की गोपनीयता तो पूरी तरह से खत्म हो जाएगी. अभी ये साफ नहीं है कि अगर कोई अरबी में, या हिंदी में ये खास ईपत्र लिखे तो क्या उसे डॉयचे पोस्ट का कंप्यूटर सिस्टम सपोर्ट करेगा.

Post E-Brief Brief Internet Cebit 2010

इंटरनेट में चिट्ठी

सुरक्षित पत्र

डॉयचे पोस्ट की इस नई सेवा की अलग बात यह भी है कि हर पत्र के लिए एक खास कोड होगा. जब तक भेजने वाला ये कोड नहीं देगा तब तक पत्र नहीं जाएगा. डॉयचे पोस्ट का तर्क है कि इस कोड वाले ई पत्र के जरिए गोपनीय, महत्वपूर्ण पत्र तेजी से भेजे जा सकेंगे. लेकिन सरकार को अभी इसे अनुमति देनी होगी कि ईपत्र के जरिए अहम दस्तावेज भेजे जाएं या नहीं.

अगर कोई अपने वकील को तुरंत पत्र भेजना चाहता है या किसी सरकारी कार्यालय में कोई अहम कागज भेजना चाहते हैं तो तुरंत भेजा जा सकेगा. भविष्य में ये सेवा स्मार्ट फोन पर भी लागू हो सकेगी. साथ ही अगर आप किसी पत्र को सेव करना चाहते हैं तो उसके लिए आर्काइव की भी सुविधा होगी.

डॉयचे पोस्ट का कहना है कि इससे बड़ी कंपनियों का पोस्ट का खर्च कम हो जाएगा और तुरंत जरूरी दस्तावेज बिना पोस्ट ऑफिस जाए भेजे जा सकेंगे.जर्मनी की बड़ी कंपनियां सैप, एलियांज, एडीएसी भी इस तरह की सेवा के इंतजार में थीं.

Post E-Brief Brief Internet Cebit 2010

प्रतियोगी लाइन में

इलेक्ट्रॉनिक पत्र यानी इमेल के कारण परंपरागत तरीके से लिखे जा रहे पत्रों में भारी कमी आई है इसलिए डॉयचे पोस्ट ने ये सेवा शुरू की है. अब डीई मेल नाम से डॉयचे टेलीकॉम, जर्मनी की इंटरनेट सेवा जीएमएक्स, वेब.डीई पोस्ट से काफी कम दरों पर ये सेवा उपलब्ध करवाने के लिए तैयार खड़ी है.

डॉयचे पोस्ट का दावा है कि ये सेवा अतिसुरक्षित रहेगी. लेकिन जर्मनी में ही ऐसे मामले सामने आ चुके हैं कि क्रेडिट कार्ड के लिए दी गई निजी सूचनाओं या किसी कार्यालय में दी गई निजी सूचनाएं किसी तीसरे व्यक्ति के हाथ लगी तो डॉयचे पोस्ट से भी निजी सूचनाएं किसी तीसरे व्यक्ति तक पहुंचना असंभव नहीं है.

रिपोर्टः एजेंसियां/आभा एम

संपादनः ओ सिंह

संबंधित सामग्री