1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

जयललिता को सजा मिलने पर 16 की मौत

तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे जयललिता को चार साल की सजा सुनाए जाने के बाद अन्नाद्रमुक समर्थकों में बिजली गिर पड़ी है. सजा की खबर से अब तक 16 कार्यकर्ताओं की मौत हो चुकी है.

अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी रिपोर्ट के मुताबिक जे जयललिता को आय से अधिक संपत्ति के मामले में सजा होने के बाद 6 लोगों ने खुदकुशी कर ली और 10 लोगों की मौत हार्ट अटैक के कारण हो गई. पुलिस के मुताबिक तीन समर्थक फंदे से लटक गए, एक ने खुद को आग लगा ली जबकि एक ने जहर पी लिया. एक और शख्स ने बस के आगे कूदकर जान दे दी. अखबार का कहना है कि अन्य लोगों की मौत सजा की खबर के बाद सदमे से हुई.

बैंगलोर की एक अदालत ने शनिवार को तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे जयललिता को चार साल की सजा सुनाई. 18 साल पुराने मामले में जयललिता आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने की दोषी करार दिया गया. जयललिता जब 1991-96 में मुख्यमंत्री थी तब उन पर आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने के आरोप लगा था. 66.65 करोड़ रुपये के भ्रष्टाचार के इस मामले में विशेष अदालत ने जयललिता पर 100 करोड़ रुपये का जुर्माना भी ठोंका है. जयललिता ने अपने पहले कार्यकाल में एक रुपये प्रति माह वेतन लेने का एलान किया था.

सरकारी वकीलों का कहना था कि जयललिता और उनके सहयोगियों ने बेनामी कंपनियों के सहारे बड़े पैमान पर पैसों की हेराफेरी की. इन कंपनियों की कोई व्यावसायिक गतिविधियां नहीं थी. लेकिन उन्होंने बेशकीमती जमीन हासिल की. अम्मा के नाम से मशहूर जयललिता अपने समर्थकों के बीच काफी लोकप्रिय हैं. अधिकारियों ने राज्य में सुरक्षा के इंतजाम कड़े कर दिए हैं ताकि हिंसा और झड़प झड़पें रोकी जा सकें.

सजा के खिलाफ अपील

जयललिता ने सोमवार को विशेष अदालत के फैसले के खिलाफ कर्नाटक उच्च न्यायालय में अपील दाखिल करने के साथ अपनी जमानत के लिए भी आवेदन किया है. जयललिता की तरफ से दलील पेश करने के लिए वरिष्ठ वकीलों का एक दल जिसमें राज्य सभा सदस्य नवनीत कृष्णन भी शामिल हैं, अदालत में उपस्थित हुए. जयललिता इस समय जेल में हैं.

पनीरसेल्वम बने मुख्यमंत्री

सोमवार को ओ पनीरसेल्वम के नेतृत्व में एआईडीएमके के नए मंत्रिमंडल को शपथ दिलायी गई. नए मंत्रिमंडल में जयललिता मंत्रिमंडल के सभी 30 मंत्री शामिल कर लिए गए हैं. राज्यपाल के रोसैया ने मुख्यमंत्री पनीरसेल्वम और अन्य मंत्रियों को राजभवन में शपथ दिलाई. शपथग्रहण करते समय पनीरसेल्वम और कोई अन्य मंत्री भावुक हो गए. 63 वर्षीय पनीरसेल्वम दूसरी बार तमिलनाडु के मुख्यमंत्री बने हैं. उन्हें रविवार को अन्नाद्रमुक के विधायक दल की बैठक में सर्वसम्मति से विधायक दल का नेता चुना.

एए/ओएसजे (डीपीए, वार्ता)

DW.COM

संबंधित सामग्री