1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

जमानत पर छूटे पिस्टोरियस

मशहूर विकलांग एथलीट ऑस्कर पिस्टोरियस को दक्षिण अफ्रीका की एक अदालत को जमानत मिल गई है. पिस्टोरियस पर अपनी प्रेमिका रीवा स्टीनकैंप की हत्या का आरोप है.

प्रिटोरिया के मजिस्ट्रेट डेस्मंड नैर का कहा कि जमानत के दौरान पिस्टोरियस देश नहीं छोड़ेंगे. जमानत को लेकर फैसले की सुनवाई पिछले चार दिन से चल रही थी. नैर ने जमानत देने के फैसले का बचाव करते हुए कहा, "मामला अपराध का नहीं, बल्कि न्याय का है."
मजिस्ट्रेट जब फैसला पढ़ रहे थे, तो 26 साल के पिस्टोरियस की आंखों में आंसू थे और वह बुरी तरह कांप रहे थे. जज नैर को रुक कर पूछना भी पड़ा कि क्या पिस्टोरियस की हालत ठीक है और क्या वह फैसला आगे पढ़ सकते हैं.
14 फरवरी को पिस्टोरियस की प्रेमिका स्टीनकैंप की मौत हुई. तब से ही पिस्टोरियस पुलिस हिरासत में थे. पिस्टोरियस पर प्रेमिका की गोली मारकर हत्या करने के आरोप हैं. पिस्टोरियस ने आरोप को खारिज किया है और कहा है कि उन्होंने चोर समझकर रीवा स्टीनकैंप पर गोली चलाई. स्टीनकैंप उस वक्त बाथरूम में थीं. गोलियां दरवाजे के बाहर से चलाई गईं.


पिस्टोरियस का परिवार अदालत के फैसले से खुश नजर आया. उसके वकील का कहना था कि जमानत का फैसला सही है. विशेषज्ञों का मानना है कि मामला अब फास्ट ट्रैक अदालतों के जरिए आगे बढ़ाया जाएगा लेकिन इसके बावजूद सुनवाई शुरू होने में छह महीने लगेंगे. उधर पिस्टोरियस वापस प्रिटोरिया में अपने घर वापस नहीं जा रहे हैं.
जमानत के फैसले के बाद अभियोजन पक्ष की कड़ी आलोचना हो रही है. सुनवाई के दौरान मुख्य जांच अधिकारी हिल्टन बोथा के तौर तरीकों पर सवाल उठे. बोथा पर 2009 में एक मिनिबस टैक्सी पर गोली चलाने और हत्या करने के आरोप लगे हैं. अभियोजन पक्ष को पिस्टोरियस के खिलाफ अपना मामला पक्का करने में कुछ वक्त लगेगा. जांच की देखरेख अब लेफ्टिनेंट जनरल विनेशकुमार मूनू करेंगे. लेकिन अभियोक्ता जेरी नील का कहना है कि पिस्टोरियस को उनके किए की सजा मिलेगी. जहां तक जमानत का सवाल है, पिस्टोरियस के पास पैसे थे और जमानत मुमकिन हुई. पिस्टोरियस को 1,13,000 डॉलर के निजी मुचलके पर जमानत मिली है.
एमजी/ओएसजे (एपी, रॉयटर्स)

DW.COM

WWW-Links

संबंधित सामग्री