1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

जब तक खेलूं भारत के लिए ही खेलूंगा: सचिन

मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर ने कहा है कि भारत के लिए खेलना बचपन से उनका सपना रहा है और बीस साल के करियर में उन्होंने हर लम्हे का लुत्फ लिया है. सचिन आखिर तक भारत के लिए खेलना चाहते हैं.

default

सचिन ने कहा, "मैं हमेशा अपने खेल पर ध्यान केंद्रित करता रहा हूं. जब मैंने खेलना शुरू किया, तो कोई लक्ष्य तय नहीं किया था. लेकिन हमेशा से यह इच्छा रही कि जब तक खेलूं देश के लिए प्रदर्शन करूं. भारत के लिए बीस साल तक खेलना बहुत शानदार रहा."

Sachin Tendulkar

14 हजारी सचिन

बैंगलोर में चल रहे टेस्ट मैच में रविवार को अपने 14 हजार रन पूरे करने वाले सचिन का कहना है कि कोच गैरी कर्स्ट्न के साथ मिल कर उन्होंने हाल के सालों में काफी मेहनत की है और इसी का नतीजा है कि टीम बढिया प्रदर्शन कर रही है. वह कहते हैं, "एक सफल टीम का हिस्सा होना बहुत अच्छा लगता है."

टेस्ट और वनडे क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन और शतक बनाने वाले सचिन मौजूदा टेस्ट में भारत की जीत की संभावनाओं पर कहते हैं, "यह हमारे लिए चुनौती साबित होने जा रही है. विकेट धीमा है. हमें बढिया साझेदारियों की जरूरत है. हमें विकेट पर ठहरना होगा, हालांकि यह एक चुनौती है."

इस बीच दुनिया भर में सचिन के चाहने वाले उन्हें टेस्ट क्रिकेट में 14 हजार रन पूरे होने पर बधाई दे रहे हैं. भारतीय टीम के सदस्य मुरली विजय कहते हैं, "मेरा तो बचपन का सपना पूरा हो गया है. मैं सचिन के साथ बल्लेबाजी कर रहा हूं. सचिन बचपन से ही मेरे हीरो रहे हैं." ऑस्ट्रेलिया के मारकस नॉर्थ ने भी सचिन को अद्भुत खिलाड़ी बताया. उन्होंने कहा, "उनका 14 हजार पूरा करना बहुत खास है. मुझे लगता है कि इसका श्रेय उनके करियर को जाता है. दबाव भरे टेस्ट क्रिकेट में उन्होंने लंबा सफर तय किया है. उन्होंने खुद को शानदार खिलाड़ी साबित किया है."

रिपोर्टः एजेंसियां/ए कुमार

संपादनः एन रंजन

DW.COM

WWW-Links