1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

चोट से जूझता बुंडेसलीगा

गर्मी की छुट्टियों के बाद जर्मन फुटबॉल का बुंडेसलीगा सीजन शुरू हुआ, लेकिन चोटी की टीमों के कई अहम खिलाड़ी चोट के कारण खेलने की हालत में नहीं हैं. लेकिन कुछ चोटिल खिलाड़ी लीग में वापस भी लौट रहे हैं.

वर्ल्ड कप की कुछ तस्वीरें अभी भी यादों में ताजा हैं जब बायर्न म्यूनिख के बास्टियान श्वाइश्टाइगर अर्जेंटीना के खिलाफ जर्मनी के मैच में आंख के नीचे लगी चोट और पांवों में दर्द से परेशान दिख रहे थे. पांच हफ्ते बाद बाद घुटने की चोट उन्हें फुटबॉल से दूर रख रहा है. सिर्फ बायर्न ही खिलाड़ियों की चोट से परेशान नहीं है, उसके धुर प्रतिद्वंद्वी डॉर्टमुंड को अपने कैप्टेन माट्स हुमेल्स के बिना ही टीम को मैदान पर उतारना होगा.

बुंडेसलीगा के 52वें सीजन की शुरुआत पर शाल्के, बायर लेवरकूजेन और वोल्फस्बुर्ग भी अपने कई चोटी के खिलाड़ियों की चोट से परेशान हैं. चोट की वजह से इस साल ब्राजील में खेलने वाली राष्ट्रीय टीम के दर्जन से ज्यादा खिलाड़ी वीकएंड में हो रहे बुंडेसलीगा के पहले मैचों में नहीं खेल पाएंगे. वर्ल्ड कप के दौरान सीमा तक जा कर किए गए प्रदर्शन और उसके बाद बहुत छोटी गर्मी की छुट्टियां इसके लिए जिम्मेदार है.

WM 2014 Deutsche Mannschaft Deutschland vs. Brasilien

चोटिल हैं राष्ट्रीय टीम के कई खिलाड़ी

चैंपियन की शामत

खास कर बायर्न म्यूनिख चोट की चिंताओं से बुरी तरह ग्रस्त है. विश्व विजेता श्वाइनश्टाइगर अकेले खिलाड़ी नहीं हैं, जिसे घुटने में चोट लगी है. टीम के अहम खिलाड़ी फ्रांक रिबेरी को भी आराम करना पड़ रहा है. उनके अलावा स्पेनी खिलाड़ी थियागो और खावी मार्टिनेस लंबे समय तक मैदान से बाहर रहेंगे. बायर्न क्लब के मानद अध्यक्ष फ्रांत्स बेकेबावर का कहना है कि पिछले गहन सीजन के बाद सिर्फ तीन हफ्ते का आराम काफी नहीं है. "चोट का खतरा बढ़ जाता है क्योंकि आराम का समय बहुत कम था."

बायर्न के प्रतिद्वंद्वी डॉर्टमुंड की टीम में याकूब ब्लास्चिकोव्स्की, मार्सेल श्मेल्त्सर, नूरी शाहीन और इल्काय गुंडोवान के अलावा विश्व विजेता हुमेल्स, आड्रियान रामोस, ओलिवर किर्ष और नए खिलाड़ी जी डोंग वोन चोटिल हैं. डॉर्टमुंड के ट्रेनर युर्गेन क्नॉप ने कहा, "माट्स हुमेल्स नहीं खेलेंगे, लेकिन इस पोजीशन पर हमें उतनी समस्या नहीं है." बायर लेवरकूजेन के राष्ट्रीय खिलाड़ी लार्स बेंडर के लिए बुंडेसलीगा बहुत जल्द शुरू हो रहा है क्योंकि चोट के कारण पर्याप्त ट्रेनिंग का मौका नहीं मिला है.

बुंडेसलीगा के पहले मैच में चैंपियन बायर्न म्यूनिख का सामना करने वाले वोल्फ्सबुर्ग की भी हालत बहुत अच्छी नहीं है. पिछले हफ्ते जर्मन कप के लिए हुए मैच के दौरान उसके 9 खिलाड़ी चोट के कारण मैदान से बाहर रहे. बोरुसिया मोएंचेनग्लाडबाख को राष्ट्रीय खिलाड़ी माक्स क्रूजे और संभवत) क्रिस्टॉफ क्रामर की जगह किसी और खिलाड़ी को मैदान पर उतारना होगा. इसी तरह इस साल फिर से बुंडेसलीगा में पहुंचने वाली कोलोन की टीम अपने स्ट्राइकर पैट्रिक हेल्मेस को कूल्हे की चोट के कारण का विकल्प खोजना होगा. शाल्के में तो खिलाड़ियों की बीमारी ने चिंताजनक शक्ल अख्तियार कर ली है. इस हफ्ते सात खिलाड़ी ट्रेनिंग में हिस्सा नहीं ले पाए.

Fußball DFB-Pokal 1. Runde: Stuttgarter Kickers - Borussia Dortmund

फिट हुए रॉयस

फिट हुए खिलाड़ी

बुंडेसलीगा के शुरुआती मैच में चोट के कारण नहीं खेल पाने वाले खिलाड़ियों की सूची लंबी है. लेकिन पहले मैच में कुछ ऐसे खिलाड़ी खेलेंगे जिनके इस मैच तक स्वस्थ होने की उम्मीद नहीं की जा रही थी. बायर्न के कोच पेप गुआर्डियोला के पास राष्ट्रीय खिलाड़ी होल्गर बाडश्टूबर को मैदान पर उतारने का विकल्प है. 624 दिनों तक लिगामेंट की चोट के कारण मैदान से बाहर रहने के बाद पिछले हफ्ते उन्होंने मुंस्टर के खिलाफ 4-1 से जीतने वाली टीम में खेला. 25 वर्षीय बाडश्टूबर ने कहा, "मैं फिर से मैदान पर जाकर खुश हूं. यह सबसे अच्छी भावना है."

डॉर्टमुंड में भी फैन और अधिकारी मार्को रॉयस के जल्दी स्वस्थ हो जाने पर खुश हैं. कोहनी में चोट लगने के कारण उन्हें वर्ल्ड कप से बाहर होना पड़ा था लेकिन उसके सिर्फ 10 हफ्ते बाद वे श्टुटगार्ट किकर्स के खिलाफ जर्मन कप के मैच में खेले. डॉक्टरों ने शुरू में कहा था कि उन्हें स्वस्थ होने में तीन महीने लगेंगे. ट्रेनर ने कहा है कि वे पूरी तरह फॉर्म में हैं और बायर लेवरकूजेन के खिलाफ बुंडेसलीगा के मैच में वे खेलेंगे.

बुंडेसलीगा के खिलाड़ीयों में चोट की स्थिति से सभी परेशान हैं और इसकी वजह ढूंढने की कोशिश कर रहे हैं. शाल्के के 20 वर्षीय खिलाड़ी यूलियान ड्राक्सलर कहते हैं, "हम भी यह सवाल कर रहे हैं कि इतनी चोटें कहां से आ रही हैं. हर किसी को खुद से पूछना होगा कि क्या वह फिट रहने के लिए सब कुछ कर रहा है, क्या ठीक ठाक खाना लिया जा रहा है, क्या खिलाड़ी पर्याप्त रूप से सो रहे हैं." इन सवालों का जवाब सचमुच खिलाड़ी खुद दे पाएंगे.

एमजे/एजेए (डीपीए)

DW.COM