1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

मनोरंजन

चॉकलेट के चाहने वालों की ऑनलाइन कम्युनिटी

इंटरनेट की इस फटाफट कल्चर वाली दुनिया में समान आदतों और विचार वालों के ऑनलाइन गुटबाजी का चलन खासा जोर पकड़ रहा है. फेसबुक और ऑर्कुट जैसे जानेमाने नामों के बीच अब चॉकलेट के चाहने वालों की पहली कम्युनिटी भी बन गई है.

default

पूरी तरह से चॉकलेट के लिए समर्पित यह कम्युनिटी स्विट्जरलैंड में पिछले सप्ताह बनाई गई. इस पर चॉकलेट के चहेते लोग अपने विचारों और अनुभवों को साझा कर सकते हैं. लेकिन विचारों और अनुभवों के आदान प्रदान को सिर्फ चॉकलेट के इर्दगिर्द ही रखना होगा.

स्विट्जरलैंड में ज्यूरिख के पास एक छोटे से कस्बे पेफिकन से शुरू किए गए इस नेटवर्क का हिस्सा बनने के लिए "माईस्विसचॉकलेट डॉट कॉम" पर रजिस्टर करना होगा. इसके साथ ही चॉकलेट के प्रति अपने लगाव को एक दूसरे के साथ न सिर्फ साझा किया जा सकेगा बल्कि दुनिया भर के चॉकलेट प्रेमियों के भी संपर्क में रहकर उनके अनुभव से रूबरू हो सकेंगे.

Flash-Galerie Schokolade

इसकी एक और खासियत यह है कि चॉकलेट की मिठास को संतुलित रखने के लिए अपनाई जाने वाली स्विट्जरलैंड की विशेष पद्धति से भी आप परिचित हो सकेगे.

कम्युनिटी के संस्थापक स्वेन बिचलर ने बताया कि वैसे तो यह साइट चॉकलेट के दीवानों के लिए है लेकिन इस पर दुनिया भर से वे लोग भी आ सकते हैं जो इस दीवानगी की गिरफ्त में आना चाहते हैं. साइट पर कम्युनिटी को क्लब कहा गया है. बिचलर बताते हैं कि क्लब की ओर अधिक से अधिक लोगों को आकर्षित करने के लिए साइट पर रजिस्ट्रेशन कराते ही 5 स्विस फ्रेंक की चॉकलेट मुफ्त में देने का ऑफर भी किया गया है.

Flash-Galerie Süßwarenmesse Köln ISM 2010 Flüssige Schokolade

इसके बाद क्लब में दोस्तों की संख्या के बढ़ने के अनुपात में ही चॉकलेट अकांउट में इजाफा होता जाएगा. मतलब इस बढ़ोतरी के साथ ही चॉकलेट खाने के अवसरों में इजाफा होता जाएगा. इंटरनेट की भाषा में इसे चॉकलेट प्वांइट में इजाफा होना कहा गया है.

Flash-Galerie Schokolade

बिचलर की दलील है कि तरह तरह की चॉकलेट बनाने के लिए दुनिया भर में मशहूर स्विट्जरलैंड में इस कम्युनिटी के बनने से बाहरी देशों के लोग इसका हिस्सा बनने के लिए आकर्षित होंगे. स्विट्जरलैंड में 18वीं शताब्दी से ही चॉकलेट उद्योग अपने चरम पर पंहुच गया था.

रिपोर्टः रॉयटर/निर्मल

संपादनः एस गौड़

WWW-Links