1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

चैंपियंस लीग में जर्मन टीमों की चुनौती

चैंपियंस लीग के शुरुआती ग्रुप मुकाबले आज से शुरू हो रहे हैं. और इस हफ्ते जर्मनी के चार क्लबों बायर्न, डॉर्टमुंड, लेवरकूजेन और शाल्के को मैदान में उतरना है.

टॉप खिलाड़ी, बड़ा पुरस्कार और ग्लैमरस क्लब, चैंपियन्स लीग का यूरोप में एक खास जादू है. डॉर्टमुंड के लिए फिर से वही क्लब चुनौती के रूप में खड़ा है, जिससे वह 2011 से अब तक पार नहीं पा सका है. ग्रुप स्तर के मैचों में डॉर्टमुंड का पहला मुकाबला आर्सेनल से है. पिछले साल आर्सेनल ने डॉर्टमुंड को उसके घरेलू मैदान पर 1-0 से हराया था. आर्सेनल के लिए खेलने वाले जर्मनी की राष्ट्रीय टीम के खिलाड़ी पेयर मैर्टेसआकर ने कहा, "हम ये फिर से करना चाहते हैं. और मुझे काफी भरोसा है कि हम ये कर लेंगे."

आर्सेनल फिलहाल 14 मैचों से अविजित है और अभी तक चैंपियंस लीग के ग्रुप दौर में वह अपना पहला मैच कभी नहीं हारा है. हालांकि डॉर्टमुंड भी बढ़िया फॉर्म में हैं. और जर्मन लीग बुंडेसलीगा में उसने लगातार दो मैच जीत लिए हैं. शिंजी कागावा भी अब चोट से उबर चुके हैं और वह मैदान पर रहेंगे. टीम में मार्को रॉयस, माट्स हुमेल्स और याकुब ब्लाशचिकोव्स्की भी हैं.

लेवरकूजेन

मंगलवार को बायर लेवरकूजेन का मैच एएस मोनाको के साथ होना है. टीम के खिलाड़ी हाकान चाल्हानोग्लु कहते हैं कि टीम को अपनी खासियत का पता है और वह रुकेगी नहीं. टीम के कोच कोजर श्मिट का भी यही मानना है. उन्होंने कहा, "खेल में जाना और ड्रॉ करने की कोशिश करना हमारा स्टाइल नहीं है." लेवरकूजेन के ग्रुप में मोनाको के अलावा बेनफिका मजबूत टीमें हैं. हालांकि मोनाको के दो स्टार खिलाड़ी, जेम्स रोड्रिगेज रियाल में और फालकाओ मैनचेस्टर यूनाइटेड में चले गए हैं. और इसी कारण उसका सीजन खराब शुरू हुआ है.

इसी सप्ताह बायर्न म्यूनिख के कप्तान फिलिप लाम ने जर्मन फुटबॉल मैगजीन किकर से कहा कि वह यूरोप की इस ट्रॉफी को फिर से लेने के लिए बेकरार हैं. अगले साल बर्लिन में होने वाले चैंपियंस लीग के फाइनल में रियाल मैड्रिड के साथ बायर्न म्यूनिख भी एक फेवरेट टीम है. हालांकि लाम खुद भी इस सीजन में रियाल मैड्रिड को बड़ी चुनौती के तौर पर देखते हैं. उन्होंने कहा, "उनके पास शानदार टीम है जिसे उन्होंने बहुत सारे पैसे लगाकर और भी अच्छा कर दिया है. रियाल ऐसी टीम है जिसे हराना चाहिए."

बायर्न का मैच बुधवार को होना है जो उसी के मैदान पर मैनचेस्टर सिटी के साथ है. पिछले हफ्ते आर्सेनल के साथ उसका मैच 2-2 से ड्रॉ रहा था. टीम के प्रमुख कोच मैन्युएल पेलेग्रिनी ने कहा, "बायर्न मजबूत है लेकिन मेरी टीम में भी वह गुण हैं कि जहां भी टीम जाए वहां जीते."

संघर्षरत शाल्के

जर्मन फुटबॉल लीग बुंडेसलीगा में शाल्के मोएंशनग्लाडबाख से इस सप्ताह 4-1 से हार गया. अब उनके सामने चेल्सी की टीम है और मैच स्टैमफर्ड ब्रिज में है. चेल्सी अपने चारों मैच जीत चुका है और प्रीमियर लीग में सबसे ऊपर है. फिलहाल टीम का आक्रमण काफी अच्छा है. शाल्के के खेल निदेशक हॉर्स्ट हेल्ट ने मैच से पहले कहा, "निश्चित ही वह आसान प्रतिद्ंवद्वी नहीं है. लेकिन हमें चुनौती स्वीकार करनी होगी. शिकायत करने से कुछ नहीं होगा. हमें पूरी ताकत के साथ इससे निपटना होगा. सभी खिलाड़ियों को साथ आना होगा तभी हम अच्छी लय में आ सकते हैं."

रिपोर्टः आंद्रे लेसली/एएम

संपादनः महेश झा

DW.COM