1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

चैंपियंस लीग में किससे किसकी टक्कर

आखिरी आठ में जगह बनाने के बाद यूरोप की सबसे बड़ी आठ फुटबॉल टीमें अब ड्रॉ का इंतजार कर रही हैं. मैनचेस्टर यूनाइटेड और बायर्न म्यूनिख सहित सबकी नजरें 24 मई को लिस्बन में होने वाले फाइनल पर लगी हैं.

मजेदार बात है कि इंग्लैंड की दिग्गज मैनचेस्टर यूनाइटेड को आठ में सबसे कमजोर टीम माना जा रहा है, जिसके कोचिंग की कमान इस बार डेविड मोएस के हाथ है. मोएस ने महान कोच एलेक्स फर्गुसन की जगह ली है. शुक्रवार को ड्रॉ का एलान होना है. मोएस का कहना है, "हो सकता है कि लोग हमें कम करके आंक रहे हों लेकिन मुझे ईमानदारी से विश्वास है कि इस क्लब में कप जीतने की क्षमता है."

दूसरी नजर इंग्लैंड के ही चेल्सी पर लगी है, जिसने दो साल पहले आश्चर्यजनक तरीके से उस वक्त के चैंपियन बार्सिलोना को सेमीफाइनल में हराया और फिर बायर्न म्यूनिख को हरा कर चैंपियन बन बैठा. बायर्न ने फाइनल में कई पराजय देखने के बाद आखिरकार 2013 में चैंपियंस लीग खिताब जीता. अब वह पहली टीम बन सकती है, जो लगातार दो साल तक इस खिताब को जीत ले. इससे पहले एसी मिलान ने 1989 और 1990 में यह कारनामा किया है.

लेकिन बायर्न सभी टीमों को बेहद मजबूत मान रही है, "अगर हमें कप जीतना है तो हमें किसी को भी हराना पड़ सकता है, जो भी सामने आ जाए." जर्मनी की दूसरी टीम बोरुसिया डॉर्टमुंड को इस बात की खुशी है कि आखिरी मैच में हार के बाद भी वह क्वार्टर फाइनल में पहुंच पाया है और अब उसे भी ड्रॉ का इंतजार होगा.

जहां तक हैरान करने वाले नतीजों का सवाल है, स्पेन के अटलेटिको और फ्रांस के पेरिस सेंट जर्मां का नाम लिया जा सकता है. मैड्रिड की टीम अटलेटिको ने 1997 के बाद पहली बार क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई है. हालांकि ज्यादा नजरें तो शहर की दूसरी टीम यानी रियाल मैड्रिड पर ही रहेंगी, जो 10वीं बार चैंपियन बनना चाहेगी. रियाल के क्रिस्टियानो रोनाल्डो का कहना है, "देखते हैं कि अगले दौर में सामने कौन आता है लेकिन टीम इस वक्त अच्छा कर रही है. हम एक वक्त में एक कदम बढ़ाना चाहते हैं."

क्वार्टर फाइनल में पहुंचने वाली टीमें हैं: बायर्न म्यूनिख, बोरुसिया डॉर्टमुंड, मैनचेस्टर यूनाइटेड, चेल्सी, बार्सिलोना, रियाल मैड्रिड, अटलेटिको मैड्रिड और पेरिस सेंट जर्मां. भले ही शुक्रवार को इन आठ टीमों की चर्चा हो और उनके मुकाबलों पर भी बात हो, लेकिन आखिर में लोगों को सिर्फ एक ही टीम याद रहती है, चैंपियन.

एजेए/एमजे(डीपीए)

संबंधित सामग्री