1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

चैंपियंस लीग का क्वार्टर फाइनल तय

क्लब फुटबॉल के सबसे बड़े खिताब चैंपियंस लीग के क्वार्टर फाइनल मैच तय हो गए हैं. क्वार्टर फाइनल में दिग्गज टीमें एक दूसरे टकराने से बच गई हैं. वहीं रो रोकर यहां तक पहुंची कुछ टीमें किस्मत को धन्यवाद दे रही हैं.

बड़ी राहत जर्मन क्लब बोरुसिया डॉर्टमुंड के चेहरे पर है. डॉर्टमुंड को स्पेन के क्लब मालागा से भिड़ना है. ड्रॉ के बाद डॉर्टमुंड के खेल निदेशक मिषाएल सॉर्क ने कहा, "बार्सिलोना, रियाल मैड्रिड या बायर्न म्यूनिख की तुलना में मलागा का सामना करना ज्यादा बेहतर है."

ड्रॉ के बाद डॉर्टमुंड के सीईओ हंस योआखिम वात्स्के को खिताब के भी सपने दिखने लगे हैं. कहते हैं, "अब तक हमें जो मिला है वह शानदार है, आगे जो होगा वह केक की आइसिंग की तरह होगा."

मालागा के फॉरवर्ड खिलाड़ी योआक्वीन सानचेज कहते हैं, "इस जगह आकर कोई टीम आसान नहीं रह जाती. बोरुसिया डॉर्टमुंड इस तरह के गेम खेलने की आदी है लेकिन मुझे उम्मीद है कि हम एकजुट रहेंगे और अब तक हमने जैसा प्रदर्शन किया है वैसा ही कर पाएं तो सफलता की उम्मीद है."

बार्सिलोना बनाम पीएसजी

फ्रांस के क्लब पेरिस सेंट जरमैन का सामना बार्सिलोना से होगा. फ्रांसीसी टीम के कोच कार्लो एंसेलोटी अभी से हल्के से घबराए गए हैं, "मैं बहुत खुश हूं लेकिन यह बहुत मुश्किल भरा होगा. बार्सिलोना बहुत अनुभवी है, उनके पास क्वालिटी और आत्मविश्वास है. पीएसजी के पास तो बस आगे जाने का मौका है."

रियाल बनाम गलातासराय

जर्मन क्लब शाल्के को हराकर क्वार्टर फाइनल में पहुंचे तुर्क क्लब गलातासराय का मुकाबला रियाल मैड्रिड से होगा. अनुमान है कि मुकाबला कड़ा होगा. रियाल मैड्रिड के पूर्व स्ट्राइकर एमिलियो बुट्रागुएनो के मुताबिक, "उनके पास श्नाइडर और ड्रोग्बा जैसे महान खिलाड़ी हैं, लेकिन हमारा उद्देश्य 10वां यूरोपीय कप जीतना होगा. यही हमारा लक्ष्य है."

Champions League Achtelfinale Borussia Dortmund Schachtar Donezk

डॉर्टमुंड को राहत

गलातासराय के उपाध्यक्ष अली दुरुस्त भी मानते हैं कि रियाल से पार पाना बड़ा मुश्किल होगा, "एक बार जब आप क्वार्टर फाइनल में होते हैं तो सभी टीमें मजबूत मिलती हैं. लेकिन रियाल मैड्रिड सभी टीमों से ऊपर है. अगर आप निशाना ऊंचा रखते हैं तो आपको ऊंची चुनौती भी देनी होगी."

बायर्न म्यूनिख बनाम युवेंटस

आर्सेनल के हाथों दूसरा मैच हारने के बावजूद क्वार्टर फाइनल में पहुंचे जर्मन क्लब का सामना इटली के युवेंटस से होगा. म्यूनिख पर अभी से मुकाबले का दबाव दिख रहा है. फुटबॉल के मैदान में जर्मनी को अक्सर इटली से पार पाने में जमीन आसमान एक करना पड़ता है. बायर्न के प्रमुख कार्ल हाइंस रुमेनिगे भी इस बात को मान रहे हैं, "आंकड़ों की बात करें तो युवेंटस के साथ हमारा अनुभव अच्छा नहीं रहा है. यह मुश्किल होगा और सेमीफाइनल तक पहुंचने के लिए हमें दो अच्छे दिनों की जरूरत होगी."

वहीं युवेंटस के निदेशक पावेल नेद्वेद कहते हैं, "हम अपनी क्षमताओं पर भरोसा करेंगे."

कब होंगे मैच

क्वार्टर फाइनल में पहुंची हर टीम विपक्षी टीम के साथ दो मैच खेलेगी. एक अपने मैदान पर और दूसरा विपक्षी टीम के मैदान पर. पहले लेग के मैच दो और तीन अप्रैल को खेले जाएंगे. इसके हफ्ते भर बाद नौ और दस अप्रैल को सेकेंड लेग के मैच होंगे.

ओएसजे/एमजे (एएफपी)

DW.COM

WWW-Links

संबंधित सामग्री