1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

चेल्सी ने मैनेजर दी मातेयो की छुट्टी की

चैम्पियंस लीग में ग्रुप स्तर पर ही बाहर होने का खतरा झेल रहे अंग्रेज क्लब चेल्सी ने अपने मैनेजर रोबेर्तो दी मातेयो की छुट्टी कर दी है. मंगलवार को जुवेन्टस के हाथों 3-0 से हार के बाद क्लब ने किया फैसला.

पिछले साल पहली बार चेल्सी ने चैंपियंस लीग जीती. लेकिन इस बार क्लब की हालत खस्ता है. क्लब की तरफ से आधिकारिक तौर पर बुधवार को यह जानकारी दी गई. चेल्सी की तरफ से जारी बयान में कहा गया है, "चेल्सी फुटबॉल क्लब ने आज सुबह मैनेजर रोबेर्तो दी मातेयो को खुद से अलग कर दिया है. हाल के दिनों में टीम का प्रदर्शन और नतीजे पर्याप्त रूप से अच्छे नहीं रहे हैं." क्लब के बारे में इस बयान में यह भी कहा गया है, "क्लब के लिए यूएफा चैम्पियंस लीग में नॉकआउट स्टेज के लिए क्वालिफाई करना साथ ही प्रीमियर लीग और तीन दूसरे मुकाबलों में शामिल होना एक बड़ी चुनौती है."

मंगलवार को तूरीन में हार का मतलब है कि चेल्सी चैम्पियंस लीग के इतिहास में पहली ऐसी टीम बन सकता है जो लीग का विजेता होने के बाद अगले ही सत्र में ग्रुप स्तर पर मुकाबले से बाहर हो सकती है. यहां तक कि घरेलू मैदान पर एफसी नॉर्ड्सजाएलैंड को आखिरी ग्रुप मैच में हराना भी उनके लिए पर्याप्त नहीं होगा. जुवेंटस और शाख्तार डोनेट्स्क के बीच ग्रुप डी के दूसरे मुकाबले में ड्रॉ दोनों पक्षों के 16 अंक कर देगा.

दी मातेयो को चैम्पियंस लीग में पहली बार टीम को विजेता बनाने के बाद इसी साल जून में स्थायी तौर पर क्लब में नियुक्त किया गया था. उनसे पहले मैनेजर रहे आंद्रे विलास बोआ को मार्च में पद से हटा दिया गया था. चेल्सी ने बायर्न म्यूनिख को मई में चैम्पियंस लीग के फाइनल मैच में हराया था. जीत का फैसला पेनल्टी से हुआ. चेल्सी की तरफ से जारी बयान में यह भी कहा गया है, "मार्च में जिम्मेदारी संभालने के बाद से ही रॉबर्तो ने जो कुछ टीम के लिए किया है उसके लिए टीम के मालिक और बोर्ड हमेशा उनके आभारी रहेंगे." बयान में चेल्सी ने कहा है कि नए मैनेजेर के बारे में जल्दी ही एलान किया जाएगा.

रूसी अरबपति रोमान अब्रामोविच ने 2003 में यह क्लब खरीदा और 42 साल के दे मातेयो सातवें मैनेजर हैं जिन्हें हटाया गया है. दी मातेयो के हटने के साथ ही लीवरपूल के पूर्व मैनेजर रफाएल बेनितेज को क्लब में स्थायी रूप से उनकी जगह लेने वाला माने जाना लगा है. हालांकि इस पद की दौड़ में बार्सिलोना के पूर्व कोच पेप गार्डियोला और टॉटेनहैम हॉट्सपर के पूर्व मैनेजर हैरी रेडकनैप भी शामिल बताए जा रहे हैं.

चेल्सी ने सत्र की शुरुआत बड़े शानदार तरीके से की लेकिन 23 सितंबर को शाख्तार से 2-1 हार के बाद उनकी गाड़ी एक तरह से पटरी से उतर गई है. शुरू के आठ मैचों में उन्होंने सात में जीत हासिल की और एक मैच ड्रॉ रहा और उसके बाद वो प्रीमियर लीग में चार अंकों की बढ़त लेने में कामयाब हो गए लेकिन मैनचेस्टर के हाथों पिछले महीने घरेलू मैदान पर मिली हार ने उन्हें तोड़ कर रख दिया. उसके बाद लगातार चार मुकाबलों में उन्हें हार का मुंह देखना पड़ा. शनिवार को मातेयो के पूर्व क्लब वेस्ट ब्रॉमविच के हाथों 2-1 से मिली शिकस्त ने चेल्सी को मैनचेस्टर सिटी से चार अंक पीछे कर दिया.

चेल्सी के पूर्व खिलाड़ी रहे दी मातेयो ने क्लब के खेल तरीके में क्रांतिकारी बदलाव लाने की कोशिश की और उसे ज्यादा आक्रामक बनाने की कोशिश की. दी मातेयो पैदा तो स्विट्जरलैंड में हुए लेकिन अंतरराष्ट्रीय स्तर पर इटली की तरफ से खेलते रहे हैं और तीसरी बार मैनेजर जैसे वरिष्ठ पद पर पहुंचे थे. उन्होंने 2008 में तीसरे दर्जे की टीम एमके डॉन्स के साथ अपना कोचिंग करियर शुरू किया था.

चेल्सी ने बीते सत्र में खिलाड़ियों पर करीब 10 करोड़ यूरो खर्च किए. फुटबॉल पंडितों मानते हैं कि सत्र की शुरुआत में अच्छा कर रही चेल्सी की धार फिलहाल मंद पड़ गई है.

एनआर/ओएसजे (एएफपी)

DW.COM

WWW-Links