1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

चेन स्मोकर को घर से निकाला

घर के भीतर धूम्रपान को कानूनी अधिकार बताने वाले शख्स को मकान छोड़ना पड़ेगा. जर्मन अदालत का आदेश इस तरह के झगड़ों में नजीर बन सकेगा.

ड्यूसेलडॉर्फ शहर में रहने वाले 75 साल के फ्रीडहेल्म अडोल्फ चेन स्मोकर हैं. पड़ोसियों के मुताबिक वो इतनी सिगरेट पीते हैं कि पूरी इमारत में बदबू फैली रहती है. वो खिड़कियां भी नहीं खोलते, जिसकी वजह से सिगरेट की दुर्गंध इमारत के गलियारें में फैलती है.

इमारत में रहने वाले लोगों ने अडोल्फ की शिकायत मकान मालिक से की. मकान मालिक ने जब अडोल्फ से बात की तो उन्होंने घर के भीतर धू्म्रपान को कानूनी अधिकार बताया. मशविरे को ठुकराते हुए अडोल्फ ने कहा कि वह खिड़कियां खोलें या नहीं, ये उनकी मर्जी है. अखबारों में यह खबर छपते ही धूम्रपान करने वाले अडोल्फ को "स्मोकिंग राइट्स" अभियान का हीरो कहने लगे.

परेशान मकान मालिक ने अदालत का दरवाजा खटखटाया. साल भर तक मामले की सुनवाई के बाद अदालत ने अडोल्फ को मकान खाली करने का आदेश दिया. कोर्ट ने कहा कि अडोल्फ के सिगरेट पीने से कोई परेशानी नहीं है, लेकिन उन्होंने पड़ोसियों तक दुर्गंध पहुंचाई, इसकी वजह से इमारत में रह रहे बाकी लोगों को सिगरेट का धुआं झेलने पर मजबूर होना पड़ा. इसी आधार पर कोर्ट ने अडोल्फ को मकान छोड़ने का आदेश दिया. अडोल्फ अगर चाहें तो फैसले के खिलाफ उच्च अदालत में अपील कर सकते हैं.

जर्मनी में रेस्त्रां, बार और ज्यादातर रेलवे स्टेशनों में धूम्रपान पर पाबंदी है. अब तक घर पर सिगरेट पीने को लेकर कोई विवाद सामने नहीं आया था. लेकिन अडोल्फ के केस के बाद लगता है कि घर के भीतर भी धूम्रपान पर सख्ती का रास्ता खुल गया है.

ओएसजे/एजेए (डीपीए)

DW.COM