1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

चेन्नई सेमीफाइनल में,भावुक हुए धोनी

चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी ने रविवार को स्वीकार किया कि टीम के सेमीफ़ाइनल में पहुंचने पर वो भावुक हो गए. रविवार को हुए मैच में चेन्नई ने पंजाब को छह विकेट से हरा दिया.

default

भावुक हुए

धोनी मैदान पर अपनी भावनाएं बहुत कम व्यक्त हैं. रविवार को भी जीत के बाद उन्होंने बहुत सामान्य रहने की कोशिश की. किंग्स इलेवन पंजाब को हराने के बाद टीम के खिलाड़ी जश्न मनाते नज़र आए. लेकिन धोनी अकेले ही ख़ुद से बातें करते देखे गए जैसे वह अपनी भावनाओं को बाहर निकालने की कोशिश कर रहे हों.

कैमरे ने कप्तान के इन अनुभवों को कैद किया. बाद में धोनी ने भी कहा, "यह बहुत भावनात्मक क्षण था. आपकी फ्रैंचाइज़ी आपको खेलने के लिए इतना पैसा देती है, तो कम से कम आपको सेमीफ़ाइनल तक तो पहुंचना ही चाहिए. मैं कहूंगा कि यह लॉटरी की तरह है, जिस तरह की फ्रैंचाइज़ी हमें मिली है, जैसी टीम हमारी है, हमें सेमीफ़ाइनल तक तो पहुंचना ही चाहिए था. तो ये मेरे लिए बहुत ही भावनात्मक क्षण था."

धोनी ने कहा कि बद्रीनाथ(53) और सुरेश रैना(46) ने जीत के लिए आधार तैयार किया. लेकिन साथ ही कहा कि वो ख़ुद दबाव में अच्छा खेलते हैं."यह कठिन खेल है. आप हमेशा ही अच्छा प्रदर्शन नहीं कर सकते. लेकिन आप बड़े खेलों में अच्छा खेल रहे हैं तो आप पर प्रेशर प्लेयर का लेबल लग जाता है. लेकिन सही बात तो ये है कि जीत के लिए रन बनाने की शुरुआत रैना और ब्रदीनाथ ने की."

Cricket Stars der Chennai Super Kings

सेमीफ़ाइनल में पहुंचे सुपर किंग्स

चेन्नई सुपर किंग्स ने किंग्स इलेवन पंजाब को छह विकेट से हरा कर आईपीएल के सेमीफाइनल में अपनी जगह पक्की कर ली है. इस जीत में कप्तान धोनी का अहम योगदान रहा जिन्होंने 29 गेंदों में 54 रन की शानदार नॉटआउट पारी खेली. अपनी पारी के आखिर में तो उन्होने चौकों और छक्कों की झड़ी लगा दी और धर्मशाला में खेले गए रोमांचक मैच में अपनी टीम को शानदार जीत दिलाई.

जीत के लिए 193 रन का पीछा करते हुए चेन्नई ने दो गेंद रहते लक्ष्य को पा लिया.

आखिरी ओवर में चेन्नई को जीत के लिए 16 रनों की दरकार थी. लेकिन धोनी ने इरफान पठान की गेंदों पर दो छक्के और एक चौका जड़कर सारी कसर पूरी कर दी. धोनी ने छक्के के साथ मैच को खत्म किया. हालांकि जब धोनी 32 रन बनाकर खेल रहे थे तो उन्हें जीवनदान मिला. युआन थेरॉन की गेंद पर पठान धोनी का कैच नहीं लपक पाए. चेन्नई की जीत में एस बंद्रीनाथ (36 गेंदों पर 53 रन) और सुरेश रैना (27 गेंदों पर 46) का भी अहम योगदान रहा.

रविवार की जीत के साथ ही चेन्नई के लीग मैच भी पूरे हो गए हैं जिसके बाद उसके कुल 14 अंक और नेट रन रेट प्लस 0.274 है. इस तरह टीम ने शान से सेमीफाइनल में अपनी जगह पक्की कर ली है.

इससे पहले बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित की गई पंजाब की टीम ने तीन विकेट के नुकसान पर 192 रन का बड़ा स्कोर खड़ा किया. इसमें चौथे विकेट के लिए शाउन मार्श और पठान के बीच 99 रनों की अहम साझेदारी का खास योगदान रहा. मार्श ने 88 रन बनाए जबकि पठान के बल्ले से 44 रन निकले.

चेन्नई की पारी को उस वक्त शुरुआती झटकों का सामना करना पडा जब रमेश पवार ने सलामी बल्लेबाजों मुरली विजय (13 रन) और मैथ्यू हेडेन (5 रन) को सस्ते में ही आउट कर दिया. लेकिन बाद के बल्लेबाजों ने पारी को संभाल लिया और उसे कामयाबी के साथ जीत की दहलीज तक ले गए.

रिपोर्टः एजेंसियां/आभा मोंढे

संपादनः ओ सिंह

संबंधित सामग्री