1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

खेल

चेन्नई और धोनी को याद करेंगे मुरलीधरन

आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स की ओर से खेल चुके श्रीलंकाई ऑफ स्पिनर मुथैया मुरलीधरन का कहना है कि उन्हें धोनी और अपनी टीम की बहुत याद आएगी. हालांकि मुरलीधरन कोच्चि फ्रेंचाइजी का हिस्सा बनने पर रोमांचित महसूस कर रहे है.

default

ट्वेंटी20 लीग आईपीएल में मुरलीधरन अब कोच्चि टीम की ओर से खेलेंगे. आईपीएल-3 में चेन्नई सुपर किंग्स को जिताने में मुरलीधरन ने पिछले साल महत्वपूर्ण भूमिका अदा की. मुरलीधरन को इस साल आईपीएल नीलामी में कोच्चि ने 11 लाख डॉलर में खरीदा.

चेन्नई को याद करते हुए मुरलीधरन ने कहा, "मैं चेन्नई टीम का तीन साल तक हिस्सा रहा हूं और मेरी कई यादें जुड़ी हैं. मेरी पत्नी भी चेन्नई से ही हैं और वह इस बदलाव से खुश नहीं हैं लेकिन यह खेल का ही हिस्सा है. मुझे चेन्नई, धोनी और टीम के सदस्यों की याद आएगी."

Muttiah Muralitharan

मुरलीधरन के मुताबिक चेन्नई के पास एक शानदार कप्तान, बेहतरीन टीम और जानदार समर्थन है. "हमें खेलने में मजा आया और पिछला साल यादगार रहा. हमें आईपीएल और चैंपियंस लीग में जीत हासिल हुई. मैंने उनके लिए काफी विकेट झटके हैं." मुरलीधरन महान स्पिनरों की जमात में शामिल हैं और अपने करियर में उन्होंने 515 वनडे विकेट और 800 टेस्ट विकेट लिए.

कोच्चि टीम की संभावनाओं के प्रति मुरलीधरन आशावान हैं. "कोच्चि एक नई टीम है और हमारे पास नया कप्तान, नए लक्ष्य हैं. मैं काफी रोमांचित महसूस कर रहा हूं. हमें नए सिरे से शुरुआत करनी है और हम अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने का प्रयास करेंगे. मुझे उम्मीद है कि कोच्चि में घर जैसा माहौल ही मिलेगा और लोग मेरी भाषा को समझ पाएंगे."

आईपीएल के तीन सत्रों में मुरलीधरन ने 40 मैचों में 40 विकेट उखाड़े हैं और उनका कहना है कि वह आईपीएल में कुछ साल और खेलना चाहेंगे.

"मैं आईपीएल में अगले दो-तीन साल खेलना चाहूंगा और अपनी क्षमता के अनुरूप प्रदर्शन करूंगा. टीम कोच्चि ने मुझमें भरोसा जताया है और मैं उन्हें निराश नहीं करूंगा." मुरलीधरन के मुताबिक कोच्चि के पास महेला जयवर्धने, ब्रैंडन मैक्कुलम, वीवीएस लक्ष्मण और श्रीसंत हैं लेकिन अब जरूरत है कि प्रतिभावान युवा भारतीय खिलाड़ियों को शामिल किया जाए.

आईपीएल नीलामी में सौरव गांगुली, सनत जयसूर्या और ब्रायन लारा जैसे खिलाड़ियों का कोई खरीदार न मिलने पर मुरलीधरन ने कहा कि यह फ्रेंचाइजी का फैसला है और वह इसकी वजह नहीं जानते. वैसे मुरलीधरन ने भी हैरानी जताई है कि इतने बेहतरीन खिलाड़ियों के साथ ऐसा क्यों हुआ. हालांकि वह मानते हैं कि इसके बावजूद इन खिलाड़ियों की महानता पर कोई असर नहीं पड़ेगा.

रिपोर्ट: एजेंसियां/एस गौड़

संपादन: महेश झा

DW.COM