चुनाव बाद भी लालू का साथ नहीं: कांग्रेस | दुनिया | DW | 15.11.2010
  1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

चुनाव बाद भी लालू का साथ नहीं: कांग्रेस

बिहार भारतीय राजनीति की दिशा तय करने वाला राज्य है. लिहाजा बिहार में हो रहे विधानसभा चुनाव भी खासी अहमियत रखते हैं. राज्य में सत्ता के प्रमुख दावेदार लालू यादव का साथ मंजूर करने से कांग्रेस ने दो टूक इंकार कर दिया है.

default

कांग्रेस ने कहा है कि बिहार में विधानसभा चुनाव के बाद भी लालू की आरजेडी के साथ गठजोड़ की कोई संभावना नहीं है. ज्यादा समय नहीं बीता है जब कांग्रेस और आरजेडी के नेता एकदूसरे की तारीफों के पुल बांधते नहीं थकते थे. लेकिन पिछले लोकसभा चुनाव में सीटों के बंटवारे को लेकर लालू के साथ हुई तनातनी ने दोनों पार्टियों की राहें जुदा कर दीं.

कांग्रेस महासचिव बीके हरिप्रसाद ने पटना में कहा कि आरजेडी के साथ दूरी बरकरार रहेगी, चुनाव का परिणाम कुछ भी हो. प्रसाद ने कांग्रेस के पुराने साथी एलजेपी अध्यक्ष रामविलास पासवान का नाम लिए बिना कहा, "हम चुनाव के बाद लालू या किसी और के साथ गठजोड़ करने के बजाय विपक्ष में बैठना पसंद करेंगे."

उन्होंने कहा कि पिछले चार दौर के मतदान से मिले रुझान के आधार पर कांग्रेस को अपने बलबूते सरकार बनाने का पूरा भरोसा है. ऐसे में किसी के साथ चुनाव बाद गठबंधन का सवाल ही नहीं उठता.

विपक्ष और खासकर बीजेपी द्वारा कांग्रेस पर भ्रष्टाचार के आरोपों के बारे में प्रसाद ने कहा कि यह सब बेबुनियाद आरोप हैं. खासकर बीजेपी को तो ऐसे आरोप लगाने का नैतिक हक भी नहीं है. उन्होंने कहा कि जिस पार्टी का अध्यक्ष कैमरे पर घूस लेते देखा गया हो वह पार्टी दूसरों पर किस मुंह से इल्जाम लगा रही है.

रिपोर्टः एजेंसियां/निर्मल

संपादनः वी कुमार

DW.COM

WWW-Links