1. Inhalt
  2. Navigation
  3. Weitere Inhalte
  4. Metanavigation
  5. Suche
  6. Choose from 30 Languages

दुनिया

चुनाव जीतने के लिए मैर्केल लेंगी टॉप ऐड एजेंसी की सेवाएं

जर्मनी की सीडीयू अपनी नेता अंगेला मैर्केल को फिर से चुनावी जीत दिला कर चौथी बार चांसलर बनाने के लिए कोई कसर बाकी नहीं छोड़ना चाहती. उन्होंने कई मशहूर विज्ञापन बना चुकी देश की सर्वश्रेष्ठ ऐड एजेंसी की सेवाएं ली हैं.

Euromaxx Screenshot Virale Videos (Jung von Matt)

जर्मनी के एडेका सुपरमार्केट चेन का यह प्रसिद्ध विज्ञापन भी इसी ऐड एजेंसी ने बनाया था.

युंग वॉन माट, यह नाम है उस टॉप विज्ञापन एजेंसी का, जो 12 सालों के शासन के बाद एक बार फिर नये सिरे से मैर्केल को चांसलर बनने का मौका दिलाने में अहम भूमिका निभा सकती है.

सन 2013 में हुए पिछले आम चुनावों में चांसलर मैर्केल का एक पोस्टर आया था. उसमें केवल उनके हाथ ही नजर आये थे लेकिन उससे वोटरों तक यह संदेश कामयाबी से पहुंचा था कि वही ऐसी एकलौती नेता हैं जो जर्मनी को एक स्थिर भविष्य दे सकती हैं.

इस पोस्टर में उनकी पहचान माने जाने वाले हाथ के पंजों से बने डायमंड शेप का इस्तेमाल हुआ था. उसी आकार में उनके हजारों समर्थकों के चेहरे फिट किये गये थे और नारा था, "जर्मनी के भविष्य को अच्छे हाथों में दीजिये."

Deutschland Bundestagswahl 2013 Großflächenplakat der CDU Angela Merkel (Imago)

2013 के बुंडेसटाग चुनाव में मशहूर हुआ चांसलर मैर्केल का यह पोस्टर.

हालांकि इससे इनकार नहीं किया जा सकता कि तब से अब तक चार सालों में इस भरोसे में काफी बदलाव आ चुका है. मैर्केल की लोकप्रियता में 2015 और 2016 के बीच खासतौर पर गिरावट देखी गयी. यह वही समय था जब जर्मनी समेत यूरोप के कई देशों में शरणार्थी संकट चरम पर पहुंच गया. देश के कई वोटर चांसलर के इस फैसले से इत्तेफाक नहीं रखते थे कि वे हर हाल में जर्मन सीमाएं खुली क्यों रखना चाहती हैं. अल्टरनेटिव फॉर जर्मनी जैसे दक्षिणपंथी पॉपुलिस्ट दल ने इस असंतोष का फायदा उठाने की पूरी कोशिश की और अपनी लोकप्रियता बढ़ायी.

2017 की शुरुआत में मैर्केल को फिर से मजबूत होती दिखती पार्टी एसपीडी के नेता मार्टिन सुल्त्स से भी सीधी चुनौती मिली. यूरोपीय संसद के प्रमुख के पद पर कार्यरत शुल्त्स ने पहले तो ब्रसेल्स से बर्लिन की राजनीति में वापसी की. और फिर चांसलर पद के लिए अपनी उम्मीदवारी का एलान किया. 

वैसे तो अमेरिका के संरक्षणवादी रवैये और ब्रिटेन के ईयू से बाहर जाने की कवायद के बीच हाल के महीनों में फिर से मैर्केल ने अपनी मजबूत कद्दावर नेता वाली छवि को मजबूत किया है. लेकिन फिर भी वे आने वाले चुनावों को हल्के में नहीं ले सकतीं. इसके लिए उनकी पार्टी ने अपने चुनाव प्रचार अभियान में 2 करोड़ यूरो (करीब 2.33 करोड़ अमेरिकी डॉलर) की राशि हैम्बर्ग आधारित टॉप ऐड एजेंसी युंग वॉन माट की सलाह से खर्च करने का फैसला किया है.

युंग वॉन माट वही कंपनी है जिसने इसके पहले बीएमडब्ल्यू, एडेका सुपर मार्केट चेन और सिक्स्ट कार रेंटल जैसे क्लायंट्स के लिए रोचक, कुछ हद तक भड़काऊ और हर हाल में ध्यान खींचने वाले नारे दिये हैं. जैसे कि 2001 के एक प्रचार अभियान में इलेक्ट्रॉनिक रिटेलर सैटर्न के लिए जर्मन में टैगलाइन दी, "गाइत्स इस्ट गाइल!" यानि कि "कंजूस होना कूल है!" यह ऐसा समय था जब जर्मनी में बेरोजगारी उभार पर थी और उपभोक्ता खर्च को लेकर काफी सतर्क थे. धीरे धीरे यह वाक्य पॉप कल्चर का हिस्सा बन गया.

एजेंसी के सहसंस्थापक जॉं-रेमी फॉन माट को उम्मीद है कि कि कुछ इसी तरह वे मैर्केल के चुनावी अभियान को लेकर भी मतदाताओं का मूड बना देंगे. सीडीयू इस बार मैर्केल के लिए ज्यादा "सुलभ" और "भावनात्मक" अभियान चाहती है, जिससे यूरोप में जगह जगह सिर उठाते दिख रहे राष्ट्रवाद की भावना का जबाव दिया जा सके.

पहले 25 सालों में ऐड एजेंसी ने कभी किसी नेता के लिए काम नहीं किया. लेकिन पिछले साल राजनीतिक अखाड़े में पहला कदम रखते हुए एजेंसी ऑस्ट्रिया के सेंटर-लेफ्ट उम्मीदवार आलेक्सांडर फान डेय बेलेन से जुड़ी. उनके क्लायंट बेलेन ने अति-दक्षिणपंथी उम्मीदवार नॉर्बेर्ट होफर को हराया और ऑस्ट्रिया के राष्ट्रपति बने. जाहिर है जर्मनी में सीडीयू भी युंग वॉन माट से ऐसे ही नतीजे की उम्मीद कर रही है.

आरपी/ओएसजे (डीपीए)

DW.COM

संबंधित सामग्री